पटना सिटी, (रिर्पोटर) :कुशवाहा कल्याण परिषद के तत्वाधान में  करण सम्राट कम्युनिटी हॉल पटना सिटी में प्रथम लौह महिला कैबिनेट मंत्री तथा  महान स्वतंत्रता सेनानी सुमित्रा देवी जी की 97 वां जयंती समारोह का उद्घघाटन पूर्व लोकसभा अध्यक्ष श्रीमति मीरा कुमार  ने किया।
  श्रीमति  मीरा कुमार ने सुमित्रा देवी के 97 वें जयंती समारोह के अवसर पर  कहा कि यह जाति व्यवस्था की ही देन है कि गुजरात में चमड़ा उधेडऩे वाले को मार दिया गया। कहा कि जिन महिलाओं को पिछड़ा समझकर पैरों तले कुचला जाता था, किसी काम के लायक नहीं समझा जाता था,उसीमें से एक क्रान्तिकारी महिला सुमित्रा देवी मुझे मेरी मां के रूप में मिलीं। मां सुमित्रा देवी से हमे बहुत बड़ी सीख मिली है। मीरा ने कहा कि क्रांति का पहला बिगुल सासाराम की धरती से फूंका गया था। तब उस क्रांति का कारवां मेरे पिता जगजीवन राम व माता सुमित्रा देवी लेकर चले थे। जगजीवन बाबू व्यक्ति नहीं विचार व क्रांति थे। उन्होंने लोगों से जाति प्रथा समाप्त करने की अपील की और कहा कि जब तक जातीय प्रथा को समाप्त नहीं किया जाएगा, लोगों का विकास संभव नहीं है। 
इस अवसर पर कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष प्रवीण सिंह कुशवाहा, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता अंशुल अविजित,पूर्व विधान पार्षद उपेन्द्र प्रसाद,आलोक मेहता,बसावन प्रसाद भगत,संतोष मेहता,दीपक मेहता,अध्यक्ष शकर मेहता,नरेश कुमार,श्रीधर मंडल,चन्द्रदीप प्रसाद,अरविन्द कुमार सिंह,श्रीमती मधुमंजरी ललिता सिंह कुशवाहा,सीता सिन्हा,पूनम मेहता,लक्ष्मण मेहता,राजेन्द्र प्रसाद मेहता,प्रदीप मेहता,सुर्य प्रकाश नारायण,राजकिशोर सिंह,रामजी मेहता,अमन सिंह कुशवाहा,अजित सिंह कुशवाहा,पंकज कुशवाहा,अमन कुमार मेहता,सिंकू मेहता,अमरनाथ प्रसाद,विनय कृष्ण मौर्य,धनंजय मेहता,डा.आलोक मेहता अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: