पटना, (रिर्पोटर) : बिहार की राजधानी पटना में जल प्रलय से हाहाकार मचा है। जनता त्राहिमाम कर रही है। नंद नगर कॉलोनी, सैदपुर नहर के सटे मोहल्ले में 8 से 10 फिट पानी भर गया है। महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग भारी संख्या में फंसे हुए है। बिजली बाधित है। उनके पास पीने का पानी तक नही है। स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता संजीव कुमार, रमेश रजक, नवीन झा, सोनू कुमार, सुनील कुमार आदि ने पानी मे फंसे लोगों को निकाल कर सैदपुर स्थित रैन बसेरा में शरण दिलाया एवं खाने पीने का व्यवस्था किया।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी बबलू कुमार प्रकाश ने कहा की मदद के लिए एडीएम, डीएम से लेकर मुख्यमंत्री के अधिकारियों तक गुहार लगाई। सीएम के ओएसडी डॉ गोपाल भी फेल हो गए, मदद नही कर पाएं । जिला पदाधिकारी कुमार रवि आश्वासन दे कर भूल गए। 300 सौ से ज्यादा परिवार अब भी फंसे हैं। रेस्क्यू टीम का इंतजार कर रहें हैं।

बबलू  ने कहा कि आसमानी आफत से निपटने में जिला प्रशासन पूरी तरह फेल हो गया है। जिला प्रशासन पटना ने जो हेल्प लाइन नम्बर जारी किया है वह पूरी तरह फेल है। किसी अधिकारी ने फोन रिसीव नहीं किया। किसी ने किया भी तो कन्नी काट लिए। बिहार का आपदा प्रबंधन विभाग इमरजेंसी व विकट परिस्थितियों से निपटने के लिए तैयार नहीं है।


Share To:

Post A Comment: