रांची, (रिर्पोटर) :   धर्म के लिए हम सब मरते है लेकिन धर्म का पालन नही करते है। आज धर्म का पालन करने की जरूरत है। उक्त बातें नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कही। वह शनिवार देर रात्री मो अली अखड़ा के द्वारा सम्मान समारोह  सह रस्म पगड़ी के कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। सीपी सिंह ने कहा कि इसलिए हम सबको भाई चारे के साथ सभी त्यौहार मनाने की जरूरत है। मोहर्रम में हिंदू-मुस्लिम सभी को शोक होती है। वही विशिष्ट अतिथि अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन कमाल खान, उप चेयरमैन गुरविंदर सिंह सेठी, धोताल आखाडा के प्रमुख खलीफा जमशेद अली उर्फ पप्पू गद्दी, इमाम बख्श अखाड़ा के प्रमुख खलीफा मो सईद, श्री महावीर मंडल के अध्यक्ष जय सिंह यादव, मंत्री ललित ओझा, सेंट्रल मुहर्रम कमेटी के अध्यक्ष गुल मो गद्दी, मंत्री अकील उर रहमान थे। कमाल खान ने कहा कि हज़रत इमाम हुसैन ने हक़ के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी। गुरविंदर सिंह सेठी ने कहा कि     हजरत इमाम हुसैन ने ज़ालिम बादशाह के सामने अपना सर न झुकाया। बल्कि नमाज की हालत में सर कटा दी। मुहर्रम व दुर्गा पूजा समितियों को सम्मानित करने के लिए मो अली अखड़ा द्वारा समारोह आयोजित किया गया, जिसमें दोनों समितियों के लोगों को एक मंच पर सम्मानित किया गया। जब पूजा समिति के लोग सम्मान ले रहे थे तब मुहर्रम कमेटी के लोगों ने तालियां बजाकर स्वागत किया। इसी तरह पूजा समिति ने भी मुहर्रम कमेटी के लोगों की हौसला अफजाई की। इस दौरान यहां उत्साह व एकजुटता का दृश्य देखने को मिला। वैसे तो कई मौके पर लोग एक साथ दिखते हैं। लेकिन मो अली अखड़ा की पहल पर दोनों समितियां एक मंच पर दिखीं। इस कार्यक्रम के मोहम्मद अली अखाड़ा के प्रमुख खलीफा फिरोज उर्फ रिंकू, सरपरस्त हाजी सलामूलहक़ उर्फ ईदू, मो रब्बानी, काज़िम कुरैशी, मो उद्दीन, सदस्य राजू उर्फ राधे, गुड्डू राजा इस कार्यक्रम के गवाह बने। कार्यक्रम की शुरुआत मो अली अखड़ा के प्रमुख खलीफा फिरोज उर्फ रिंकू के आगत अतिथियों के स्वागत भाषण से हुआ। रिंकू ने कहा कि यह शहर साम्प्रदायिक सौहार्द व मजहबी एकता का मिशाल रहा है। मुहर्रम, दुर्गा पूजा, होली, ईद आदि ऐसे त्योहार हैं, जिसमें दोनों वर्ग के लोग एक-दूसरे के साथ कदमताल करते हुए शांतिपूर्ण माहौल में संपन्न कराते हैं। इसका मिशाल संपन्न दुर्गा पूजा और मुहर्रम में देखा गया। इस मौके पर राजू उर्फ राधे, गुड्डू राजा, मो अनवर, हाजी उमर, हाजी साहेब अली, मो इम्तिया, गुल मो गद्दी, सेंट्रल मुहर्रम कमिटी के महासचिव अकिलुर्रह्मान, मो नौशाद खान, आज़ाद कुरैशी, राजा, बॉबी, मो सेराज, औरंगजेब, शफ़ीक़, कोल्हा खान, बबलू कुरैशी, नदीम अख्तर, इनामुलहक़, मो इरशाद, भोला, समेत हजारो लोग थे। वही एजुकेशनल ट्रस्ट वेलफेयर सोसाइटी के द्वारा भी सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। जिसके मुख्य अतिथि  अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष  कमाल खान  विशिष्ट अतिथि  गुरविंदर सिंह सेठी, जय सिंह यादव, ललित ओझा, मो भोलू, सोसायटी के निदेशक हाजी परवेज अख्तर के अलावा मोहम्मद दानिश हनज़ला उस्मानी, असमर मुस्तफा, इबरार अहमद, सलाउद्दीन, मो रियाज, जम्मू भाई आदि थे।



Share To:

Post A Comment: