पटना, (रिर्पोटर) : हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा से के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने देश में खराब अर्थव्यवस्था पर अपनी गहरी चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि देश में 6 वर्षों में अब तक के सबसे नीचे जी.डी.पी. का अस्तर 5प्रतिशत पर होना यह दर्शाता है कि केंद्र सरकार की अर्थव्यवस्था की पॉलिसी पूरी तरह चरमराई हुई है। जिसके कारण जनता को महंगाई का बोझ झेलने को मजबूर होना पड़ रहा है ।

    श्री मांझी ने कहा उसका दूसरा कारण यह है कि आरबीआई से 1.76 लाख करोड़ सरकार ने लिया है । इससे तो हम यह समझते हैं कि देश की अर्थव्यवस्था को खराब होने का मेन लक्षण यह है । जो रिजर्व बैंक के गवर्नर राजन साहब हो या पटेल साहब हो उन्होंने इस्तीफा दिया । जब यही कारण से जब 1.76 लाख करोड़ रुपए आरबीआई के निधि से दिया जाना देश के हित के लिए खतरा है। आर्थिक स्थिति के लिए तो यही कारण है कि 2-2 गवर्नर को इस्तीफा करना पड़ा । 1.76 लाख करोड़ रिजर्व बैंक से देना और जीडीपी 5प्रतिशत आना इससे साबित होता है कि भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति खराब है । इसके लिए केंद्र सरकार दोषी है।

      श्री मांझी ने कहा कि अर्थव्यवस्था की मजबूती से ही हम देश को मजबूती के साथ विकास की दौड़ में ले जा सकते हैं। लेकिन सरकार इस दिशा में पूरी तरह विफल साबित हो रही है।


Share To:

Post A Comment: