पटना, (रिर्पोटर) :  जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद ने  कहा कि बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के उस ज्ञान पर तरस आती है जिसमें उन्होंने भारतीय अर्थव्यवस्था में मंदी के लिए सावन -भादो महीना को जिम्मेदार ठहराया है । ऐसे उवाच पर इन्हें गोल्ड मेडल का  खिताब दिया जाना चाहिए ।            

श्री एजाज ने आगे कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था में मंदी का सबसे बड़ा कारण नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसले हैं, क्योंकि इन दोनों फैसलों के बाद भारत में तेज गति से विकास का कार्य नहीं हो पाया है और सारे उद्योग धंधे चौपट हो गए हैं । नितिन गडकरी ने जो कहा है वह अब सत्य प्रतीत हो रहा है कि केंद्र सरकार ने जिस भी कार्य को शुरू किया है वह सत्यानाश का कारण बना । और देश में जब से नोटबंदी, जीएसटी, स्टार्टअप इंडिया ,भीम एप ट्रिपल तलाक धारा 370, बैंकों का एकीकरण जैसी प्रक्रिया  को लागू किया गया है तब से ही देश में आर्थिक मंदी और समाज में नफरत का वातावरण खड़ा हो गया है । जिससे ध्यान हटाने के लिए अच्छे दिन का भोंपू बजाने वाली मोदी सरकार के नेतागण नित- प्रतिदिन नए नए नारे एवं नई-नई बातें करके जनता को दिग्भ्रमित करना चाह रही है । और अब आर्थिक मंदी को भी राजनीति का आधार बना रही है, जबकि केंद्र सरकार को इस समस्या के समाधान के लिए गंभीर प्रयास करना चाहिए और अर्थव्यवस्था के सुधार के लिए सच में जो कार्य किया जाना चाहिए उस पर विशेष ध्यान देना चाहिए न कि सावन -भादो और उन्माद की राजनीति के सहारे लोगों को भ्रम में रखा जाए।  आखिर बिहार में सत्ता पक्ष के नेताओं की संपत्ति में सावन भादो  की मंदी का प्रभाव क्यों नहीं देखने को मिल रहा है और तेजी से मॉल कैसे बन रहा है यह बात बिहार की जनता जानना चाहती है ।


Share To:

Post A Comment: