पटना, (रिर्पोटर) :रालोसपा के मुख्य प्रवक्ता माधव आंनद ने देश की  अर्थव्यवस्था पर मोदी सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि  अर्थव्यवस्था को  ठीक करने के लिए दुष्प्रचार की नहीं, बल्कि ठोस नीति की जरूरत है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के एक साक्षात्कार का हवाला देते हुए  कहा कि पहले सरकार को स्वीकार करना चाहिए कि अर्थव्यवस्था को लेकर समस्या है।

उन्होंने  कर कहा कि  इस समय दुष्प्रचार, मनगढ़ंत खबर की  बातें करने की जरूरत नहीं है, बल्कि भारत को एक ठोस नीति की जरूरत है ताकि अर्थव्यवस्था की स्थिति को ठीक किया जा सके।  पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने  भी एक साक्षात्कार के माध्यम से कहा कि   नोटबंदी और गलत ढंग से जीएसटी लागू करने के कारण देश की अर्थव्यवस्था  खराब हुई है ।  नोटबंदी और जीएसटी को लेकर अर्थशास्त्रियों ने जो आशंका जताई थी वह आज सही साबित हुई है, देश के हालात बेहद खराब हैं ।   सिर्फ  निजी क्षेत्र में नहीं बल्कि सरकारी उपक्रमों में भी बड़े पैमाने पर छटनी हो रही है,यह चिंता की बात है।  कृषि के क्षेत्र में भी बेहद खराब हाल है, किसानों के हालात खराब हैं और वे मंदी की मार झेल रहे हैं। उन्होंने कहा कि बिहार के लोग देश भर में नौकरियां करते हैं लेकिन उनकी बड़े पैमाने पर छंटनी हो रही है, बिहार की सरकार ने भी पिछले पंद्रह सालों में ऐसा कुछ नहीं किया जिसे लेकर नीतीश कुमार अपनी पीठ थपथपाएं। सच तो यह है कि मुख्यमंत्री बनने के बाद बिहार की हालत और खराब हुई है।  उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार काम का दावा ही ज्यादा करते रहे हैं जमीन पर उनका काम नहीं उतरा है,  बिहार से लोगों का पलायन जारी है, रोजगार मिल नहीं रहा है । केंद्र सरकार अपने उपक्रमों को बेचने में लगी है क्योंकि सरकार के पास पैसा नहीं है और उसकी कोशिश है कि पैसा कहीं से आ जाए।  ऐसा कर केंद्र सरकार कुछ खास बड़े घरानों को फायदा पहुंचाने में लगी है।

Share To:

Post A Comment: