पटना, (रिर्पोटर) : जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने पर्यटन के क्षेत्र में बिहार को मिल रही अभूतपूर्व सफलता का श्रेय राज्य के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार को देते हुए कहा कि बिहार में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरकार कई काम कर रही है। आने वाले समय में बिहार के पर्यटन स्थल देश-विदेश में जाने जाएंगे. श्री प्रसाद ने कहा कि राजनीतिक, धार्मिक, साहित्यिक और सांस्कृतिक धरोहरों को लेकर बिहार की अपनी अलग पहचान है। बुद्ध और महावीर ने बिहार से दुनिया को शांति और अहिंसा का संदेश दिया था। आने वाले दिनों में बिहार भी पर्यटन स्थलों के मामले में देश के उन बड़े राज्यों में शामिल होगा जिनकी पर्यटन के क्षेत्र में देश और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग पहचान है.

बिहार में धार्मिक और ऐतिहासिक स्थल के लिहाज से काफी संख्या में पर्यटन स्थल हैं। यहां संपूर्ण विश्व के सैलानी घूमने आते हैं। पर्यटन विभाग के मुताबिक, घरेलू पर्यटन के लिहाज से पूरे भारत में बिहार को सम्मानजनक स्थान हासिल है जबकि विदेशी पर्यटकों के मामले में भी हम लगातार सफलता की सीढ़िया चढ़ते जा रहे हैं। प्रदेश में पिछले साल घरेलू पर्यटकों की संख्या में 24 फीसदी जबकि विदेशी पर्यटकों की संख्या में 11 फीसदी का इजाफा हुआ है. हमारी सरकार ने पर्यटन विभाग के लिए 13 हजार से करोड़ से ज्यादा रुपये आवंटित किए हैं।

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए बुद्धिष्ट सर्किट, जैन सर्किट, रामायण सर्किट, सूफी सर्किट, गांधी सर्किट, इको सर्किट, सिख सर्किट, शिव शक्ति सर्किट एवं कांवरिया सर्किट बना रही है. इसके अलावा प्रदेश के हर पर्यटन स्थल पर ठहरने की बेहतर व्यवस्था की जाएगी. जैन सर्किट को 53 करोड़ की लागत से, गांधी सर्किट को 42 करोड़ की लागत से एवं कांवरिया सर्किट को करीब 52 करोड़ की लागत से विकसित किया गया है। वहीं सिख सर्किट को विकसित करने के लिए काम जारी है। इन चार सर्किट का काम 2019 के अंत तक पूरा करना है। रामायण सर्किट करीब 50 करोड़ की लागत से विकसित होगा ।

श्री प्रसाद ने कहा कि इसी तरह प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अनेक योजनायें चल रही है। हमारी सरकार ने पर्यटकों की सुविधाओं को ध्यान में रखते भी अनेक योजनायें चलाई है। पटना दर्शन नाम से एक ट्रैवलर गाड़ी की जल्द ही शुरुआत होने जा रही है, जिसके जरिए सैलानी पटना के ऐतिहासिक, धार्मिक स्थलों का दर्शन कर सकेंगे. इसके साथ ही राजगीर में बन रहे नए रोपवे को भी जल्द ही तैयार कर दिया जाएगा. मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी के नेतृत्व में बिहार को विश्व मानचित्र पर एक उत्कृष्ट पर्यटन प्रदेश के रूप में विकसित करने के लिए हमारी सरकार कृत संकल्पित है ।


Share To:

Post A Comment: