पटना, (रिर्पोटर) :  उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि भोजपुर व पटना से जुड़े सेक्स रैकेट कांड में गिरफ्तारी वारंट निकलने के बाद फरार संदेश के राजद विधायक अरुण यादव वही हैं जिन्होंने लालू परिवार के काले धन को सफेद करने के लिए 13 जून, 2017 को लालू यादव की मां के नाम पर बने ‘मरछिया देवी कमर्शियल काॅम्पलेक्स’ के 5 फ्लैट्स 2 करोड़ 56 लाख 76 हजार रुपयों का राबड़ी देवी को भुगतान कर खरीद लिया था। लालू यादव के बेहद करीबी अरुण यादव ने बालू की अवैध कमाई से अर्जित रुपयों को अपनी कंपनी किरण दुर्गा कंस्ट्रक्शन प्रा. लि, पुत्र राजेश कुमार रंजन व दीपू कुमार तथा पत्नी किरण देवी के नाम से फ्लैट्स खरीदे थे।


उपमुख्यमंत्री श्री मोदी ने कहा है कि राजद बलात्कारियों, अपराधियों को पनाह देने वाली पार्टी बन कर रह गई है। नाबालिग से बलात्कार के आरोपित राजवल्लभ यादव और हत्या सहित अनेक संगीन मामलों में सजायफ्ता व आरोपित मो. शहाबुद्दीन की तरह अरुण यादव को भी पार्टी से निकालना तो दूर निलम्बित करने की हिम्मत भी राजद नहीं करेगा क्योंकि अरुण यादव से लालू यादव का केवल राजनीतिक नहीं कारोबारी संबंध भी है।  ऐसे में क्या एकांत में घटों मिल कर राजवल्लभ यादव को गुरुमंत्र देने वाले लालू यादव अरुण यादव से भी मिल कर बचने की तरकीब नहीं सुझायेंगे?


अपराधियों को संरक्षण देने वाली पार्टी राजद न केवल राजवल्लभ यादव और मो. शहाबुद्दीन की पत्नी को टिकट देकर चुनाव लड़ाती है बल्कि उसे अलकतरा घोटाले में सजाफ्ता मो. इलियास हुसैन के परिजन से भी परहेज नहीं है। लेकतंत्र पर खतरा बता कर शोर मचाने वाली पार्टी मो शहाबुद्दीन को पार्टी से निकालना तो दूर उलटे उसे पार्टी की कोर कमिटी में बना कर रखा है। अब नाबालिक के साथ रेप और सेक्स रैकेट कांड के आरोपित अरुण यादव का भी बचाव करे तो कोई आश्चर्य नहीं?


Share To:

Post A Comment: