पटना, (रिर्पोटर) :  9वीं बटालियन एनडीआरएफ हेडक्वार्टर बिहटा (पटना) में नेहरू युवा केन्द्र संगठन स्वयंसेवकों के लिए चलाए जा रहे आपदा प्रबंधन पर आधारित प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन किया गया। इस मौके पर श्री विजय सिन्हा, कमान्डेंट, 9वीं बटालियन एनडीआरएफ तथा डॉ० (श्रीमती) कुमारी ज्योत्स्ना, राज्य निदेशक, नेहरू युवा केन्द्र संगठन, पटना ने प्रतिभागी स्वयंसेवकों को सम्बोधित किया।

 विजय सिन्हा, कमान्डेंट ने बताया कि 02 से 07 सितम्बर 2019 तक सफलतापूर्वक चलाये गये इस प्रशिक्षण में भागलपुर जिलान्तर्गत कहलगाँव प्रखण्ड के नेहरू युवा केन्द्र संगठन के 29 स्वयंसेवकों को आपदा प्रबंधन एवं रेस्पांस से संबंधित विभिन्न जीवन रक्षक तकनीकों के बारे में प्रशिक्षित किया गया। इन प्रशिक्षित 29 स्वयसेवकों में 07 महिला स्वयंसेवक भी शामिल हैं।


यह प्रशिक्षण डिपार्टमेंट ऑफ यूथ अफेयर्स, भारत सरकार के  सहयोग से तथा बल मुख्यालय एनडीआरएफ, नई दिल्ली के निर्देशानुसार 9 बटालियन एनडीआरएफ के प्रशिक्षण टीम द्वारा चलाया गया। पायलट प्रोजेक्ट के तहत बिहार के भागलपुर जिलान्तर्गत 16 प्रखण्डों तथा झारखंड राज्य के देवघर जिलान्तर्गत 10 प्रखण्डों के नेहरू युवा केन्द्र संगठन के 780 स्वयंसेवकों को अलग-अलग 20 बैचों में इस प्रकार का प्रशिक्षण 9वीं बटालियन एनडीआरएफ बिहटा (पटना) द्वारा दिया जायेगा। समापन समारोह के दौरान श्री रवि कान्त, द्वितीय कमान अधिकारी, श्री कुमार बालचन्द्र, प्रशिक्षण अधिकारी, श्री अभिषेक कुमार राय, उप कमान्डेंट तथा निरीक्षक कमलेश कुमार भी मौजूद रहे।


अपने समापन भाषण में श्री विजय सिन्हा, कमान्डेंट ने प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके स्वयंसेवकों से कहा कि आपदा में अपनी निपुडता का व्यावसायिक तरीके से इस्तेमाल करते हुए मुश्किल समय में हमेशा लोगों की मदद करने के लिए तत्पर व तैयार रहें। साथ ही, अपनी जानकारी को अपने आस-पास के लोगों के साथ भी साझा करें। आपदा रेस्पांस के क्षेत्र में काम कर रहे महत्वपूर्ण लोगों का सम्पर्क नम्बर अपने पास जरूर रखें तथा जरूरत पड़े तो सिविल प्रशासन, पुलिस और एनडीआरएफ को तुरन्त सूचित करें। उन्होंने प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके स्वयंसेवकों को कहा कि आज से आप सभी एनडीआरएफ मित्र है। श्रीमती (डॉ०) कुमारी ज्योत्सना राज्य निदेशक, नेहरू युवा केन्द्र संगठन पटना ने 9 बटालियन एनडीआरएफ द्वारा सफलतापूर्वक इस प्रशिक्षण को चलाने के लिए श्री विजय सिन्हा, कमान्डेंट एवं पूरी प्रशिक्षण टीम को धन्यवाद दिया।


Share To:

Post A Comment: