पटना, (रिर्पोटर) : युवा नेता भरत सिंह ने कहा कि 1 सितम्बर से देश में लाग नए मोटर वाहन कानून लाग होने पर राजधानी में इस कानून का भय दिखाकर पुहलस मनमानी करने में जुटी है। आए दिन  वाहन जांच के दौरान पुलिस और नागरिक के बीच झड़प होना आम बात बन कर रह गयी है।  राज्य में बेरोजगार छात्रों -युवाओं से नये ट्रैफिक कानून के नाम पर मनमाना राशि वसूला जा रहा हैं। यहां तक सभी कागजात होने पर भी जबरन डरा धमकाकर पैसा वसूला जा रहा है, जो ठीक नहीं है। इस काले कानून से सुरक्षा के नाम पर परेशान किया जा रहा और मध्यम, गरीब व आम आदमी से पैसा उगाही किया जा रहा है। जबकि वीआईपी व्यक्ति से किसी भी प्रकार की कोई चेकिंग और उनका चलान नहीं काटा जा रहा है।


 उन्होंने सरकार से मांग कर कहा कि बिहार सरकार को गुजरात सरकार की तरह ही वाहन चलान की राशि को कम करना चाहिय और हेलमेट, शूज और सीटबेल्ट फाइन को 1000 रूपय की जगह 500 रुपय कर देना चाहिये। ताकि लोगो को सबक भी मिले और मनमाना राशि भी न वसूला जाये। सरकार बगैर हेलमेट पहने व्यक्ति को वाहन चलाने और असुरक्षा के प्रति इतनी ही चिंतित है तो बगैर हेलमेट के फाइन काटते वक्त फाइन देने वालो को हेलमेट भी दिया जाना चाहिए।  ताकि उसे भी एहसास हो की प्रसाशन और सरकार उसकी भलाई के लिए यह कर रही है।


Share To:

Post A Comment: