पटना, (रिर्पोटर) : बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह के एकलौते पुत्र शुभानन्द मुकेश ने हिमालय श्रृंखला की लगभग 20,830 फीट ऊंची माउन्ट कांग यात्से 2 चोटी पर सफलता पूर्वक चढ़ाई कर तिरंगा फहराया है। ऐसा कर उन्होंने पर्यावरण संरक्षण का सन्देश दिया है। यह किसी नेता पुत्र की अद्भुत और अनोखी उपलब्धि है। जो बिहार के लिये गौरव की बात है। उन्होंने यह उपलब्धि टाटा स्टील एडवेंचर फाउंडेशन के बैनर तले प्राप्त की है।

शुभानन्द मुकेश टाटा स्टील के पर्यावरण विभाग में डीजीएम पद पर कार्यरत्त हैं। इनकी मुलाकात देश की प्रख्यात पर्वतारोही पद्मश्री बछेंद्री पाल से हो चुकी है। उनके व्यक्तित्व व संघर्ष से प्रभावित और प्रेरित होकर पर्वतारोहण में इनकी जिज्ञासा जगी। वे 2002 में 40 किमी की यात्रा कर करीब 13,700 फीट ऊंची दरबा टॉप पर पहले ही प्रयास में कामयाबी हासिल की। वे 31 अगस्त 2018 को लगभग 19,600 फीट ऊंची माउन्ट कनामो चोटी पर भी सफलता पूर्वक तिरंगा फहरा चुके हैं।

शुभानन्द ने बताया कि लद्दाख क्षेत्र के मरखा घाटी से होते हुये कांग यात्से -2 चोटी पर चढ़ाई पूरी की। बर्फ से ढकी पहाड़ की इस ऊंचाई पर चढ़ाई करना किसी मृगतृष्णा से कम नहीं है। मंजिल करीब महसूस होता है, पर वास्तव में वह दूर रहता है। समुद्र तल से ज्यों दृ ज्यों ऊंचाई बढ़ती जाती है ऑक्सीजन की मात्रा कम होती जाती है। शारीरिक तकलीफें बढ़ती जाती है। बावजूद इसके दृढ ईच्छाशक्ति और बुलंद हौसले के बलबूते सफलता प्राप्त की जाती है। सदानंद सिंह बेटे की इस सफलता से फूले नहीं समा रहे हैं। पुत्र की इस उपलब्धि पर वे काफी खुश हैं। उन्होंने शुभानन्द मुकेश के उज्ज्वल भविष्य के लिये शुभकामनाएं दी है।



Share To:

Post A Comment: