पटना, (रिर्पोटर) : पटना स्थित विद्यापति भवन में केंद्रीय मंत्री सह पटना साहिब सासंद रविशंकर प्रसाद की उपस्थिति में  सातवीं आर्थिक जनगणना के द्वितीय चरण का शुभारंभ किया गया के विद्यापति भवन में किया गया  जिसमें रविशंकर प्रसाद  ने सी.एस.सी के कार्यों की सराहना किया और उम्मीद की सी.एस.सी इस योजना को  सफलता पूर्वक पूरा करेगी और बताया कि सी.एस.सी डिजिटल इंडिया के द्वारा  जन आंदोलन की अहम भूमिका निभा रही है।और सी.एस.सी की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है।
कार्यक्रम का उद्घाटन संबोधन सी.एस.सी बिहार के राज्य प्रमुख संतोष कुमार तिवारी ने किया और बताया कि 20493 पर्यवेक्षक एवं 100094 गणक का पंजीयन अभी तक किया जा चुका है ।पहली बार देश में पेपरलेस आर्थिक गणना की जाएगी इसकी जानकारी उप महानिदेशक एन संगीता संखियिकी विभाग भारत  सरकार ने बताया की  जो प्रतिष्ठान कंपनी एक्ट से पंजीकृत नहीं वैसे प्रतिष्ठान की गणना की जाएगी और सारी जानकारी गोपनीय रखी जाएगी।और इस योजना की पूरी जानकारी दिया। कार्यक्रम में श्री राजेश्वर प्रसाद सिंह निदेशक संखियिक  विभाग,बिहार सरकार ने बताया की यह महत्वूर्व गणना है जिससे आर्थिक विश्लेषण किया जाता है और देश के विकास में इसका महत्वपूर्ण भूमिका है । आज बिहार के कई जिलों में पटना सहित  इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया जाएगा।
        श्री प्रसाद ने कहा कि केंद्र सरकार का लक्ष्य है बेटी बचाओ बेटी बढ़ाओ का संकल्प लिया साथ ही बताया कि देश की बेटियाँ अब कंप्यूटर सीखकर देश को आगे बढ़ाने में सक्षम है | श्री प्रसाद ने आगे बताया कि सी.एस. सी सेंटर से हर तरह की सुविधाएं मिला करेंगी साथ ही सी.एस. सी के कारण गांव के निवासियों को गॉव से सुविधा और रोजगार दोनों प्राप्त हो रहे है |  विशेष कर गॉव की बेटियाँ सशक्त हो रही है | तीन लाख से अधिक महिलाओ को अबतक सी.एस. सी कब माध्यम से रोजगार मिल चुका है | कुम्हरार विधायक अरुण कुमार सिन्हा ने सी.एस.सी को अपने कार्यों में सफलता हेतु शुभकामनाएं दीं और बताया कि ऐसी योजना से लोगो की आर्थिक स्थिति की जानकारी मिलेगी और देश के  विकास में मदद मिलेगी एवम् पेपरलेस गणना आधुनिक स्वरूप में होगा। कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन राज्य प्रबंधक मुदित मनी ने किया।

Share To:

Post A Comment: