पटना, (रिर्पोटर) : रालोसपा के राष्ट्रीय मुख्य प्रवक्ता माधव आनंद ने कहा कि बिहार सरकार को किसान विरोधी बताया है, उन्होंने कहा कि प्राकृतिक प्रकोप से जूझ रहे किसानों को डेडिकेटेड कृषि फीडर से उनके खेतों तक पानी पहुंचाने का नीतीश सरकार का सपना पूरा होने से पहले ही मुंह चिढ़ाने लगा है, सूखे का दंश झेल रहे किसानों को कृषि फीडर के माध्यम से हर रोज 12 घंटे की बजाय मात्र 2 घंटे बिजली की ही आपूर्ति की जा रही है, नतीजतन खेत में लगी धान की फसल सूखने लगा है।


श्री आनंद ने कहा कि गौरतलब है कि एग्रीकल्चर फीडर के माध्यम से नीतीश सरकार ने पूरे बिहार के किसानों के खेत तक तीन शिफ्ट में चार-चार घंटे यानी प्रतिदिन 12 घंटे बिजली पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया है, लेकिन स्थिति ठीक इसके उलटा है, इस साल के अंत तक पूरे बिहार में खेती के लिए 1312 डेडिकेटेड एग्रीकल्चर फीडर लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया है जिसमे से अब तक करीब 800 फीडर के माध्यम से बिजली की आपूर्ति की जा रही है, उन्होंने कहा कि न्याय के साथ विकास का नारा देनेवाली नीतीश सरकार में हर आदमी परेशान है, 76 प्रतिशत कृषि पर निर्भरता वाले बिहार में इस वर्ष भी बाढ़ और सुखाड़ से किसान त्राहिमाम हैं, जबकि राज्य सरकार सिर्फ  कागजी घोषणाएं कर अपनी पीठ थपथपाने में जुटी है, उन्होंने कहा कि बिहार में सरकारी योजनाओं में मची लूट के कारण उसका लाभ जरुरतमंदों तक नहीं पहुंच रहा है।




Share To:

Post A Comment: