पटना, (रिर्पोटर) :  धारा 370 हटाने से महिलाओं को हुए फायदों का जिक्र करते हुए भाजपा प्रवक्ता सह पूर्व विधायक  राजीव रंजन ने कहा “धारा 370 का हटना एक तरह से भारतीय संविधान की एक बड़ी जीत है. सरकार के इस फैसले से सबसे अधिक फायदा वहां कि महिलाओं को हुआ है, जो इस धारा के कारण अभी तक कई दमनकारी कानूनों को झेलने को बाध्य थी. इस धारा के कारण अगर कोई महिला अपनी मर्जी से शादी करती थी तो उसे और उसको बच्चों को जायदाद से बेदखल कर दिया जाता था और अगर पुरुष भारत के किसी अन्य राज्य का हो तो उस महिला और उसके बाल-बच्चों की कश्मीरी नागरिकता भी एक तरह से समाप्त कर दी जाती थी. यह सीधे सीधे संविधान के समानता के अधिकार और उस महिला के मौलिक अधिकारों का हनन था. यही नहीं भारत के अन्य राज्यों में महिलाओं को मिलने वाला आरक्षण तथा शिक्षा का अधिकार जैसी सुविधाएं भी नही मिल पाती थी. उनकी जिंदगी पर्सनल लॉ के तहत दबी हुई थी. तीन तलाक़ जैसे कानूनों की वजह से हर वक्त उन्हें डर के साये में जीना पड़ता था. बिना मेहरम के वह हज भी नही जा सकती थीं. लेकिन इस धारा को समाप्त करने के केंद्र सरकार के ऐतिहासिक फैसले ने उनकी जिंदगी में एक नया उजाला ला दिया है. दुसरे शब्दों में कहें तो उन्हें अब जा कर वास्तविक आजादी मिली है।

 

 

श्री रंजन ने कहा “ सरकार द्वारा इस धारा को हटाने के बाद अब वहां कि महिलाएं भी देश की अन्य महिलाओं के कंधे से कंधा मिला कर आगे बढ़ सकती हैं. केंद्र की सभी योजनाएं सुचारू रूप लागू होने से उन्हें भी इसका लाभ मिलेगा. अब और अधिक संख्या में महिलाएं पढ़-लिख सकेंगी, जिससे नौकरी, व्यवसाय और राजनीति में उनकी भागीदारी बढ़ेगी. महिलाओं के सशक्त होने का प्रभाव पूरे समाज पर पड़ेगा, जिससे कश्मीर में अमन, चैन और खुशहाली आएगी और कश्मीर और कश्मीरियत दोनों मजबूत होंगे।


Share To:

Post A Comment: