पटना, (रिर्पोटर) :  राजद प्रदेश महासचिव भाई अरूण कुमार, विनोद यादव एवं अत्यंत पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेष सचिव उपेन्द्र चन्द्रवंशी ने एक संयुक्त प्रेस बयान जारी कर पिछले छ: दिनों से पटना के जल जमाव का निराकरण नहीं होने पर जिस प्रकार भाजपा-जदयू के लोग एक दूसरे पर ठीकरा फोडऩा तथा प्रशासन पर दोष मढने पर तीव्र प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि जदयू एवं भाजपा के लोग नूरा कुस्ती खेलना बंद करे। जदयू और भाजपा अपने-अपने दायित्वों से बच नहीं सकते हैं। पिछले पन्द्रह साल से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मुख्यमंत्री के पद पर आसीन रहे हैं वहीं भाजपा के सुशील मोदी 15 वर्षों से उपमुख्यमंत्री रहे हैं तथा नगर विकास मंत्रालय भी भाजपा के पास ही था। पटना शहरी विधानसभा के चारों विधायक भाजपा के ही है तथा दोनों लोकसभा सीटों पर भाजपा का कब्जा है। फिर भी पटना के जल निकासी की व्यवस्था नहीं हो पायी है यह दुर्भाग्यपूर्ण है तथा पटना के जल जमाव में कुछ नेता फोटो खिंचवाने में व्यस्त हैं तो प्रदेश के उपमुख्यमंत्री तीन दिनों तक अपने आवास में कैद थे और खुद को रेसक्यू करवाया और राजेन्द्र नगर वासियों को भगवान भरोसे छोड़ दिया। एक भी भाजपा के विधायक कार्यकर्ता अपनी ओर से रिलीफ नहीं चलाए ना ही जदयू के और भाषण लंबी-लंबी दे रहे हैं। मुख्यमंत्री में नैतिकता है तो खुद इस्तीफा दें अन्यथा उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी एवं नगर विकास मंत्री को बर्खासत करें।


Share To:

Post A Comment: