रांची, (रिर्पोटर) :  अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी एवं क्रिकेट एकेडमी के निर्देशक  इरफान पठान ने  खिलाडिय़ों को गुरुमंत्र दिया।  इरफान पठान ने इस दौरान खिलाडिय़ों के साथ वन टू वन सेशन भी किया जिससे खिलाड़ी काफी उत्साहित दिखे। उन्होंने खिलाडिय़ों से कहा कि कड़ी मेहनत, पक्का इरादा एवं लक्ष्य के प्रति समर्पण से कोई भी खिलाड़ी कामयाब हो सकता है।  अपने तकनीक और अपने मजबूत पक्ष को पहचान कर उसी दिशा में मेहनत करें। इरफान ने कहा कि हर खिलाड़ी का कमजोर पक्ष होता है मगर हमें चाहिए कि कमजोरी पर दिन रात काम करने के बजाए अपने मजबूत पक्ष पर अच्छी पकड़ बनाना बेहतर होता है। एक खिलाड़ी के प्रश्न के सवाल पर उन्होंने कहा कि खिलाड़ी खुद ही अपने ऊपर दबाव बनाते है, इसलिए जरूरी है कि खुद की मेहनत, तैयारी एवं हुनर पर विश्वास जताएं और खेल को सदा एन्जॉय करें। उन्होंने कई परिस्थितियों से संबंधित किस्से भी खिलाडिय़ों से साझा किया। इरफान पठान ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्होंने जब एकेडमी खोलने की सोची तो उनके मन मे सिर्फ एक ही बात थी कि खिलाडिय़ों को अच्छी एवं टेक्नोलॉजी युक्त क्रिकेट सीखने को मिले। साथ ही आठ हमने जो क्रिकेट खेला है, हमारा जो अनुभव है उससे खिलाडिय़ों को मार्गदर्शन कर उनको मदद की जा सके। उन्होंने कहा कि हम हर तरह के बच्चों के साथ अलग अलग करिकुलम आधारित ट्रेनिंग के साथ आगे बढ़ते है और हर चार महीने में प्रशिक्षकों की ट्रेनिंग एवं सेमिनार करा कर उन्हें अपग्रेड किया जाता है। उन्होंने कहा कि हमारी एकेडमी अभी 20 - 25 शहरों में चल रही है और रांची सेंटर के बच्चों का समर्पण एवं अनुशासन देखकर लगता है कि आने वाले समय मे यह कैप की बेस्ट एकेडमी होगी।

रांची में क्रिकेट के लिए वातावरण बढिय़ा है। इरफान ने रांची स्थित उनके एकेडमी की भी तारीफ  करते हुए कहा कि यहां के प्रबंधन ने सेंटर में अच्छा काम किया है। यहां लगे फ्लड लाइट से बच्चे देर रात तक भी क्रिकेट सिख सकते है और अपने शैक्षणिक क्रायक्रम से सामंजस्य बैठा सकते है। उन्होंने कहा कि झारखंड अब भारत के मानचित्र पर तेजी से उभर कर आया है ऐसे खिलाडिय़ों को इस वातावरण को बनाये रखते हुए इसे अवसर के रूप में लेना चाहिए।


Share To:

Post A Comment: