पटना, (रिपोर्टर) : राजधानी पटना में जलजमाव के बाद इन दिनों मधेपुरा के पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पप्पू यादव काफी एक्टिव मोड में दिखाई दे रहे हैं। इस क्रम में आज पटना में पप्पू यादव खुद फॉग मशीन लेकर के सड़क पर उतर गए। जहां पर कचरे का अंबार लगा था वहां पर खुद से फॉगिंग करने लगे। पप्पू यादव की तरफ से चलाई जा रही यह फॉगिंग मशीन पटना के उन इलाकों में पहुंचेगी, जहां अब तक नगर निगम की तरफ से फॉगिंग नहीं हो पाई है। पटना के मंदिरी इलाके में पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी की ओर से सेवा दल के जरिये आज फॉगिंग सेवा की शुरुआत की है।  
इस दौरान पप्‍पू यादव ने कहा कि हम लोगों को डेंगू के डंक के हवाले छोड़ने वाले नहीं है, इसलिए हम पटना नगर निगम के सभी वार्डों के लिए एक एक फॉगिंग मशीन की व्‍यवस्‍था कर रहे हैं। आज फिलहाल 12 फॉगिंग मशीन से अधिक प्रभावित जलजमाव वाले इलाकों में फॉगिंग कराई गई है। उन्‍होंने कहा कि वे हर महीने पटना के सभी वार्डों में महीने में तीन दिन फॉगिंग करवायेंगे, इसके लिए पहले लोगों को ट्रेनिंग दी जायेगी, उसके बाद हर महीने पप्‍पू बैंक से मेहनताना भी दिया जायेगा। उन्‍होंने कहा कि हम पटना को डेंगू मुक्‍त करा कर ही दम लेंगे।
वहीं, पप्‍पू यादव ने इस मामले को लेकर सत्ता और विपक्ष पर भी जोरदार हमला बोला। उन्‍होंने कहा कि पटना में डेंगू का प्रकोप काफी अधिक हैलेकिन फिर भी बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे गलत बयानी करके भ्रम फैला रहे हैं। वे झूठे आंकड़ों की कलाबाजी कर सच्चाई छुपा रहे हैं। जबकि सच यह है कि हर दिन पटना में 200 से 300 डेंगू के मरीज पाए जा रहे हैं। इलाज के अभाव में लोग दम भी तोड़ रहे हैं। हद तो यह है कि झारखंड में रहकर मंगल पांडेय बिहार में स्वास्थ्य व्यवस्था कैसे देख रहे हैं यह बात समझ से परे है?
उन्‍होंने कहा कि डबल इंजन की जुमलेबाजी वाली सरकार उसी तरह से काम कर रही है, जैसे लोगों को जलजमाव के समय जल कर्फ्यू और जेल कैदी बनाकर पटना मे लोगों को रखा गया। उस समय भी सरकार राहत पहुंचाने में पूरी तरह से विफल रही और जो स्वास्थ्य शिविर सरकार की ओर से लगाया गया है। वह सिर्फ कागजों पर है, कहीं भी सरजमीन पर काम नहीं कर रहा है जिसके बारे मे केंद्र  सरकार के डाक्टरो की टीम के द्वारा जांच उपरांत स्वीकार किया गया था कि सिर्फ कागज पर  ही सरकारी  शिविर काम कर रही है। अब डेंगू के मामले भी  झूठे आंकड़े का सहारा लिया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि पटना को डेंगू मुक्त करने के लिए जन अधिकार पार्टी सेवा दल की ओर से सफाई के साथ-साथ  से आज से 12 फागिंग मशीन के माध्यम से मच्छर के प्रकोप से बचाव के लिए  पटना मे छिड़काव भी किया  जा रहा है और दो सप्ताह के अंदर पूरे पटना को स्वच्छ  बनाने का संकल्प है। पप्पू यादव ने आरोप लगाया कि बुडको ने पानी निकालने में 24 लाख रुपया डीजल का खर्च दिखाया है जो एक बड़े घोटाले का स्पष्ट प्रमाण है, लेकिन उसके बावजूद सरकार ऐसे घोटाले पर पर्दा डाल रही है। सरकारी मशीनरी का लगातार दुरुपयोग किया जा रहा पटना नगर निगम को नरक निगम बना दिया गया हैऔर लोगों को नर्क में रहने पर मजबूर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार नगर विकास और स्वास्थ्य विभाग का जिम्मा 2 सप्ताह के लिए पप्पू यादव को दे दे तो वह  पटना को क्लीन एवं डेंगू मुक्त करने के संकल्प को पूरा करके दिखाएगे।
इस अवसर पर पार्टी के राष्‍ट्रीय कार्यकारी अध्‍यक्ष अखलाक अहमद, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमदराष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह ,राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन पप्पू ,प्रदेश अध्यक्ष रघुपति सिंह,  प्रदेश महासचिव संदीप सिंह समदर्शी ,अरुण कुमार सिंहशंकर पटेल,निरंजन कुमार ,छात्र परिषद के अध्यक्ष  गौतम आनंदमिथिलेश कुमार,नवल किशोर यादव ,दिलीप कुमार , अरविंद कुमार यादव शशांक कुमार मोनूहर्ष राजराजद छोड़ जाप में आयीं ईशा यादव सहित बड़ी संख्या में छात्र- युवा परिषद के नेताओं के साथ सेवा दल के कार्यकर्ता भी कचरा हटाओ अभियान मे शामिल हुए । दूसरी ओर जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद के नेतृत्व में आज भी पटना में मेगा मेडिकल कैंप में मरीजों को देखने का काम जारी हैजिसमें डॉ धीरज कुमारडॉ राकेश रोशन ,डॉक्टर नीतीश कुमार , सहायक के रूप राकेश कुमार ,मोहम्मद अख्तर , विजय कुमारराकेश कुमार पंडित उर्फ मुन्ना पूरी तरह से मरीजों की सेवा में सक्रिय है। इस मेगा मेडिकल कैंप में निशुल्क डेंगू और मलेरिया के मरीजों की जांच की जा रही है।

Share To:

Post A Comment: