पटना, (रिर्पोटर) :  केंद्रीय मंत्री सह पटनासाहिब सासंद रविशंकर प्रसाद ने अपने दिल्ली में तय वोडाफोन के ग्लोबल CEO के साथ तय बैठक को रद्द कर दिया और साथ ही संघ (आरएसएस) की बैठक में भी नही आने की अनुमति लेते हुए पटना में रहने का निर्णय लिया |
    विदित हो कि कल रविशंकर प्रसाद जी संदलपुर,सैदपुर,राजेन्द्र नगर आदि जल-जमाव प्रभावित क्षेत्रों का NDRF के साथ दौरा किया था | इस दौरान जनता की दर्द से मर्माहत होकर उन्होंने उक्त निर्णय लिया |
   आज रविशंकर प्रसाद जी ने स्वयं पुराने नाला उड़ाही के जांच एवम राजापुर,कुर्जी,गोसाई टोला आदि ड्रेनेज सम्प पम्प हाउस का निरिक्षण किया | इसमे कुछ सुधार हेतु आवयश्क निर्देश मंत्री ने तुरन्त PMC कमिश्नर को दिए | साथ ही पाटलिपुत्रा कॉलोनी,नाला रोड,दिनकर गोलंबर,कदमकुआं,जक्कनपुर,खेतान मार्केट, राजीव नगर, इंदिरा नगर में चल रहे राहत कार्यो का अवलोकन किया |  उन्होंने बिहार सरकार से आग्रह किया कि राहत साम्रगी को जनता तक पहुचाने को गति प्रदान करे साथ ही सक्रिय हस्तक्षेप के लिए स्थानीय अधिकारियों से बात की |
    श्री प्रसाद केंद्र सरकार से भी मदद हेतु बात कर चुके है | रविशंकर प्रसाद जी को उदयपुर( राजस्थान) में ब्रह्मा कुमारी के अंतराष्ट्रीय सम्मेलन कार्यक्रम के दौरान जल जमाव के विभत्स स्वरूप की जानकारी प्राप्त हुई | तत्पश्चात  पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि से बात कर समस्या की समाधान हेतु किये जा रहे प्रशासनिक तैयारी की जानकारी ली थी | साथ ही उन्होंने केंद्रीय कोयला मंत्री श्री प्रह्लाद जोशी जी से बात कर चार डी-वाटरिंग हेवी पम्प की सहायता मांगी एव केंद्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेंद्र शेखावत से बात कर के फरक्का के सभी गेट खुलवाने का कार्य करवाया था , जिससे गंगा नदी के पानी का लेवल कम हो | उन्होंने रक्षा विभाग के सचिव से बात कर दो हेलीकॉप्टर की व्यवस्था कराई, जिसका उपयोग राहत साम्रगी (पानी,फूड पैकेट आदि) वितरण के लिए किया जा रहा है उन्होंनो कोल इंडिया के मोटर पम्प को मंगवाने हेतू सेना के विमान की सहायता के लिए आग्रह किया था, जिससे कि कोल इंडिया के डी- वाटरिंग मोटर पम्प पम्प छतीसगढ़ से जल्द से जल्द पटना पहुच सके | कैबिनेट सेक्रेटरी से बात कर के NDRF के सदस्यों की संख्या बढ़ाने के लिए भी बात की | रविशंकर प्रसाद को जैसे ही पटना के समस्या की जानकारी प्राप्त हुई वे उदयपुर (राजस्थान) से पटना पहुँच कर स्वयं राहत कार्यो के लिए चल रहे विभिन्न प्रशानिक प्रयासों का निरीक्षण किया | कई स्थानों की दयनीय स्थिति देखकर श्री प्रसाद की आँखे सजल हो गई थी |
        कोल इंडिया के डी-वाटरिंग पम्प आज पटना पहुँच गया है जो जल्द ही कार्यरत हो जायेगा | साथ ही रविशंकर प्रसाद ने उधोग जगत के लोगो से आहवाहन किया कि वे जल-जमाव में फंसे लोगों को राहत साम्रगी ( पानी,पैकेट आदि) उपलब्ध करवाने में आगे आये एवम अपना पूरा सहयोग प्रदान करे | साथ ही उन्होंनो कहा कि प्रभावित परिवारों के शीघ्र बचाव और पुनर्वास के लिए राज्य सरकार के प्रयासों का समर्थन करने के लिए केंद्र सरकार हर संभव मदद करेगी |

Share To:

Post A Comment: