पटना, (रिपोर्टर) :  हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा से. के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने बिहार में गिरती कानून व्यवस्था की स्थिति  पर चिंता जाहिर किया ।  इसी क्रम में वह आज रोहतास के शिवसागर प्रखंड में मोरसराय गांव में एक दलित बच्ची के साथ हुए सामूहिक बलात्कार और उसकी हत्या के उपरांत पीडि़त परिवार से मुलाकात कर कहा कि इस तरह हो रही बलात्कार की घटना से मेरा कलेजा कांप रहा है कैसे कोई ऐसा जघन्य अपराध कर सकता है। मांझी दुखी होकर के आज रोहतास जा कर उस गांव का भ्रमण करेंगे और अपहरण होने वाले व्यक्ति संजय विश्वकर्मा के परिवार से मिलेंगे। 
      मांझी ने कहा कि वह फिर 25 तारीख को बख्तियारपुर में एक दलित परिवार की बच्ची को इसी तरह बलात्कार करके उसकी हत्या 1 सप्ताह पहले कर दी गई है, उस गांव का भी दौरा करेंगे।
         मांझी ने कहा कि हमें दुख के साथ कहना पड़ता है कि बार-बार बिहार सरकार से मेरी प्रार्थना है कि नाबालिग बच्चियों के साथ ही इस प्रकार की हरकत करने वालों के साथ कानून अपना काम करेगा । यह जुमला छोड़ के शीघ्र से शीघ्र स्क्लूसिव कोर्ट बैठा करके सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुरूप दो-चार को फांसी की सजा दिलवा दे । तो शायद इस प्रकार की घटना नहीं घटेगी । इसलिए हम अनुरोध करते हैं नीतीश कुमार से कम से कम अभी तो आप अपनी संवेदना को को उजागर कीजिए ।      

    बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने कहा कि अभी उपचुनाव हुए हैं और जो एग्जिट पोल आ रहा है हम कहना चाहते हैं कि विकास के काम कानून व्यवस्था का काम की स्थिति, भ्रष्टाचार की स्थिति, को मध्य नजर रखते हुए आम लोगों को मतदान करने की आवश्यकता है । लेकिन ऐसा देखा जा रहा है। कि एनडीए की सरकार एनडीए के नेता इन मुद्दों से आगे हटकर के राष्ट्रीयता का और धार्मिकता का भावना फैलाकर के हिंदू मुसलमान हिंदुस्तान पाकिस्तान इत्यादि करके युवाओं को एक तरह से बहुत ज्यादा प्रभावित करते हैंए और जिसके चलते हो सकता है कि हरियाणा और महाराष्ट्र में उनकी सरकार बन जाए ।
        मांझी ने कहा कि जहां तक बिहार का सवाल है हमको इस बात की खुशी है जो पोल हुआ है जो हमारे दलित तबके के लोग हैं शेड्यूल कास्ट में दलित तबके के लोग हैं गोलबंद हुए हैं और वह गोल बंद हो करके चाहे हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा सेकुलर है उसके पक्ष में या फिर वीआईपी पार्टी के पक्ष में क्रमश: नाथनगर, सिमरी बख्तियारपुर में वोट देने का काम किया है । इस बात की खुशी है । जहां तक परिणाम का सवाल है, हमको ऐसा लगता है कि सत्ता पक्ष वाले लोग धन और शासन का प्रभाव दिखला करके लोगों को प्रभावित करने का कोशिश किया है और इस आधार पर कामयाब होना चाहते हैं । लेकिन बिहार की जनता को समझती है । हम लोगों ने प्रचार करके यही कहा है कि आप धनबल में न जाइए और किसी के प्रभाव में मत आइए और जो आज बिहार सरकार की कारगुजारी है उसको मध्य नजर रखते हुए आप वोट कीजिए । अभी हम को सूचना मिल रही है नाथनगर से और सिमरी बख्तियारपुर से की अति पिछड़ा और साहनी हैए शेड्यूल कास्ट के लोग, अति पिछड़ा समाज के लोग, महादलित समाज के लोग, चाहे रविदास हों, चाहे पासवान हों, चाहे रजक हों चाहे चौधरी हों, सभी ने गोलबंद होकर एक होकर वोट किया है।
परिणाम चाहे जो भी हो हमें इस बात की खुशी है  कि हम लोगों के प्रयास से हमारे शेड्यूल कास्ट के लोग अति पिछड़ा समाज के लोग महादलित समाज के लोग गोलबंद हुए हैं ।
        मांझी ने कहा कि हमें आशा है कि ऐसा सोचकर के महागठबंधन के बीच में गलतियां हुई है या होने की संभावना है । सबक लेते हुए 2020 में सब अपना अपना स्वार्थ को त्याग कर कर के राष्ट्र हित में निर्णय लेना चाहिए । ताकि यह जो भाजपा की सरकार हैए या भाजपा गठबंधन है, वह पुन: अन्य राज्यों में नहीं आसके हमें ऐसा प्रयास करना चाहिए। ऐसा प्रयास नहीं करते हैं, तो माना जाएगा कि प्रकलंत्रण से हम एनडीए को फायदा दे रहे हैं ।

Share To:

Post A Comment: