पटना, (रिर्पोटर) : पटना में आफत की बारिश रूक चुकी है लेकिन अभी भी राजेन्द्र नगर, कंकड़बाग, बाजार समिति, बहादुरपुर गुमटी, हनुमान नगर, मलाही पकड़ी, वैशाली गोलंबर आदि इलाकों में 04 - 05 फीट जलजमाव है। इन इलाकों में अभी भी लोगों को अपने घरों से बाहर निकलना मुश्किल है।


कमान्डेंट विजय सिन्हा ने बताया कि संकट की इस घड़ी में 9वीं बटालियन एनडीआरएफ के कुल 06 टीमें के लगभग 250 बचावकर्मी 36 रेस्क्यू बोटों के साथ राज्य व पटना जिला प्रशासन के साथ कुशल समन्वय स्थापित करके दिन-रात लोगों को हर संभव सहायता पहुंचाने में मुस्तैदी से लगे हुए है। आज दोपहर तक एनडीआरएफ के बचावकर्मियों ने जलजमाव में बुरी तरह फंसे 9 हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल चुके है। साथ ही, सिविल प्रशासन के सहयोग से लोगों के बीच पानी बोतल, दूध, बिस्कुट, चूड़ा, फूड पैकेट्स, मोमबती, माचिस, ब्रेड, फल आदि बांटने में भी एनडीआरएफ के बचावकर्मी अथक प्रयास कर रहे हैं और अपना बल के मोटो आपदा सेवा सदैव को चरितार्थ कर रहे हैं। सुरक्षित बाहर निकाले गये लोगों में लगभग 500 रोगी तथा 28 गर्भवती महिलाएं भी शामिल है। एनडीआरएफ की दो मेडिकल टीमें भी जलजमाव वाले क्षेत्रों में घूम-घूमकर जरूरतमंद लोगों को चिकित्सा सहायता प्रदान कर रही है। 


कमान्डेंट विजय सिन्हा ने प्रभावित लोगों से एक बार फिर लोगों से अपील किया है कि मुश्किल की इस घड़ी में आप घबड़ाएं नहीं बल्कि संयम से कम लें। एनडीआरएफ को सूचित करें, हमारे बचावकर्मी सदैव लोगों को मदद करने के लिए तत्पर एवं तैयार है।

Share To:

Post A Comment: