पटना, (रिर्पोटर) :  राजद प्रदेश महासचिव भाई अरूण कुमार, विनोद यादव, अत्यंत पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव उपेन्द्र चन्द्रवंशी, सरदार रंजीत सिंह एवं युवा नेता जेम्स कुमार यादव ने एक संयुक्त प्रेस बयान जारी कर कहा कि पटना के लोगों में डेंगू मच्छर का इस प्रकार भय व्याप्त हो गया है कि लोग इस बीमारी से अपने को बचाने के लिए पटना से बाहर जाना ही उचित समझ रहे हैं। जिस प्रकार जल जमाव के बाद पानी में एडीस मच्छर पैदा हो रहे हैं और सरकार तथा निगम की ओर से युद्ध स्तर पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। ब्लीचिंग पाउडर का छिडक़ाव मुख्य सडक़ पर ही दिखाने के लिए किया जा रहा है। जबकि गलियों एवं गड्ढे में इसका छिडक़ाव नहीं हो रहा है। फब्बींग मशीन से मच्छर मारने का काम भी नहीं हो रहा है। स्थिति इतनी भयानक हो गई है कि पटना के प्रत्येक गली-मुहल्ले में डेंगू के मरीज पाए जा रहे है। पीएमसीएच में डेंगू के मरीजों से भरा पडा़ हुआ है। बेड की कमी पड़ रही है और केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चैबे कह रहे हैं कि डेंगू  महामारी का रूप ले रही है तो क्या जब प्रतिदिन डेंगू से लोग मरने लगे तो महामारी का रूप लेगी। चैबे जी आप बिहार के केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री है। दिल्ली से स्पेशल डॉक्टरों की टीम को पीएमसीएच में व्यवस्था करें। एक हजार का अतिरिक्त प्लेटलेस की व्यवस्था केन्द्र सरकार के द्वारा करवाया जाय।  इन नेताओं ने राज्य सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर पटना में डेंगू मच्छर के मारने की व्यवस्था युद्धस्तर पर नहीं चलाया गया तो पटना की स्थिति और भी भयानक हो जायेगी तथा पूरा पटना खाली हो जायेगा।

Share To:

Post A Comment: