पटना, (रिपोर्टर) : कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए भाजपा प्रवक्ता सह पूर्व विधायक श्री राजीव रंजन ने कहा “ कभी बिहार में जिस कांग्रेस की तूती बोलती थी आज वह अपने नेताओं के स्वार्थ और अहंकार के कारण अपने से कहीं छोटी पार्टियों की पिछलग्गू बनने को मजबूर है. किसी भी कीमत पर सत्ता से चिपक, मलाई खाने की आदत ने कांग्रेस को आज कहीं का नही छोड़ा है. वास्तव में इनकी जमीन पूरी तरह खिसक चुकी है. बिहार में तो इनकी पार्टी राजद की बी टीम के नाम से प्रसिद्ध हो गयी है. न तो इनके नेताओं में जमीन पर संघर्ष करने की क्षमता बची है और न ही फिर से पार्टी को अपने पैरों पर खड़ा करने की हिम्मत. 90 के दशक में विपक्ष में बैठने के बजाए राजद के पीछे खड़े होने की इन्होने जो गलती की थी, उसके कारण आज बिहार कांग्रेस के अस्तित्व पर ही खतरा मंडराने लगा है. राजद ने कांग्रेस नेताओं द्वारा थाली में परोस कर दिए गये मौके का भरपूर फायदा उठाया और कांग्रेस की नेतृत्व क्षमता को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया. उन्होंने कांग्रेस की ऐसी हालत कर दी है कि कांग्रेस सपने में भी अकेले चुनाव लड़ने की हिम्मत नही जुटा सकती. लोगों की माने तो पहले राजद ने कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पर दबाव डाल अपने वफादारों को कांग्रेस में भर्ती करवाया, बाद में उनकी सहायता से कांग्रेस के वोट बैंक को पूरी तरह अपने पाले में कर लिया. आज स्थिति यह है कि अगर कांग्रेस में राजद से अलग होने की चर्चा भी छिड़ती है तो इनके अपने नेता ही विरोध में छाती पीटने लगते हैं. स्थिति यह है कि राजद के नेता जो चाहते हैं कांग्रेस में हमेशा वही होता है. यहाँ तक कि इनका आलाकमान भी राजद नेतृत्व से आँख मिलाने की हिम्मत नही कर सकता. चुनावों में कांग्रेस कितने सीटों पर लड़ेगी और किसे टिकट मिलेगा यह भी राजद की मर्जी से तय होता है. यहाँ तक कि अगर राजद इन्हें चुनाव लड़ने से मना कर दे तो कांग्रेस मना करने की हिम्मत तक नही कर सकती. इसके बावजूद इनके अहंकार में कोई कमी नहीं आयी है. इनकी राजनीति को देखते हुए इतना तय है कि अब बिहार में कांग्रेस कभी भी अपने पैरों पर खड़ी नही हो सकती।

Share To:

Post A Comment: