पटना, (रिर्पोटर) : रालोसपा के मुख्य प्रवक्ता माधव आनंद ने कहा कि  दो दिनों की बारिश से राजधानी में समूचा पटना में चार से पांच फीट जलजमाव का होना आश्चर्य की बात है, यह बिहार सरकार की लापरवाही, भष्ट्राचार और विफलता का प्रमाण है। इस  दो दिनों की मूसलाधार बारिश ने पटना नगर निगम, नगरविकास विभाग और प्रधानमंत्री के नमामि गंगे सफाई अभियान में व्याप्त भष्ट्राचार की कलई खोलकर रखकर दी है।

 

 जलजमाव का मुख्य कारण नालों की उड़ाही का नही होना है जिसके लिये पटना नगर निगम को  मानसून पूर्व प्रति वर्ष 6 से 07 करोड़ रुपये मिलते हैं जिसका बंदरबांट कर शहर को डुबोया गया है। निगम की  निगरानी करने में सरकार विफल रही है। ग्यारह हजार चार सौ अ_त्तर करोड़ रुपए की प्रधानमंत्री की नमामि गंगे परियोजना के तहत अब तक लगभग एक हजार करोड़ की निकासी हो चुकी है जिसमे शहर से गंदे पानी को सीवर और संप हाउसों के माध्यम से बाहर निकालना था। लेकिन योजना  भष्ट्राचार का शिकार हो गयी। बिहार सरकार की अक्षमता और लापरवाही के परिणामस्वरूप पटना के राजेन्द्र नगर,कंकड़बाग, पाटलिपुत्रा कालोनी, बोरिंग रोड जैसे पाश कालोनिय में भी एक पखवाड़े तक चार से पांच फीट का जलजमाव रहा। लोगो का घर मकान, गाड़ी, व्यापार- रोजगार प्रभावित हुआ। जानमाल की भी क्षति हुई। लोग जलजमाव के समय और अब  बीमारियों का शिकार हो रहे हैं।




Share To:

Post A Comment: