पटना, (रिर्पोटर) : गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार ने प्रदेश एवं देशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनायें दीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरुनानक देव जी सिख धर्म के संस्थापक और सिखों के पहले गुरु थे। गुरुनानक जी के व्यक्तित्व में दार्शनिक, योगी, गृहस्थ, धर्म संस्थापक, समाज सुधारक, कवि, देशभक्त एवं विश्वबंधु के गुण मिलते हैं। उन्होंने शांति, दया एवं मानवता का पवित्र संदेश देने के लिये चारों दिशाओं में बड़े पैमाने पर यात्राएं की थीं जिन्हें ‘उदासी’ नाम से जाना जाता है। गुरुनानक देव जी महाराज के 550वें प्रकाश पर्व को राजगीर में 27 से 29 दिसंबर 2019 तक मनाया जायेगा। राजगीर में जहां गुरूनानक देव जी ने जमीन पर अपना चरण छुआकर शीतल जल का फुहारा प्रकट कर दिया था, वह स्थान शीतल कुंड के नाम से विख्यात है। राजगीर में उसी स्थान पर गुरूद्वारा शीतल कुंड का निर्माण कराया जा रहा है जिसका 11 जनवरी 2019 को शिलान्यास करने का सौभाग्य मुझे प्राप्त हुआ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरूनानक देव जी के समग्र एवं समरस समाज बनाने के सपने को पूरा करने के लिये हम सभी को मिलकर काम करना चाहिए। गुरूनानक देव जी ने ‘इक ओंकार’ का नारा दिया था यानी ईश्वर एक है। गुरूनानक देव जी कहा करते थे कि किसी भी तरह के लोभ को त्याग कर, अपने हाथों से मेहनत कर और न्यायोचित तरीकों से धन का अर्जन करना चाहिये। कभी भी किसी का हक नहीं छीनना चाहिये बल्कि मेहनत और ईमानदारी की कमाई में से जरूरतमंदों की भी मदद करनी चाहिये। धन को जेब तक ही सीमित रहना चाहिये, उसे अपने हृदय में स्थान नहीं बनाने देना चाहिये अन्यथा नुकसान हमारा ही होता है। हम सभी को गुरूनानक देव जी के संदेशों को अपने जीवन में उतारने की कोशिश करनी चाहिये।



Share To:

Post A Comment: