रांची , (रिर्पोटर) :  भाजपा की मीडिया प्रबंधन समिति के सदस्य और कोल्हान प्रमंडलीय मीडिया प्रभारी अजय राय ने कहा है कि विधानसभा चुनाव के पूर्व ही झामुमो को हार का भय सताने लगा है। झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष व गठबंधन के नेतृत्वकर्ता  हेमंत सोरेन ने दुमका और बरहेट से चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। यह उनकी हताशा का परिचायक है। श्री राय ने कहा कि झामुमो अपने स्थापना काल से ही जनता को बरगलाती रही है। झारखंड आंदोलन और अलग राज्य गठन का श्रेय स्वयं लेते हुए अपनी ही पीठ थपथपाती रही है। झामुमो ने कभी भी झारखंड वासियों के हितों की बात नहीं की। उन्होंने कहा कि झामुमो परिवारवाद को बढ़ावा देने वाली पार्टी है। झारखंड वासियों के सपनों को चकनाचूर करने में झामुमो की अहम भूमिका रही है। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन को विधानसभा चुनाव के पूर्व ही यह लगने लगा है कि झारखंड की जनता उन्हें पूरी तरह से नकार देगी। इसी हताशा और निराशा से ग्रसित होकर उन्होंने दो विधानसभा क्षेत्र, दुमका और बरहेट से चुनाव मैदान में उतरने का फैसला लिया है। उनके इस निर्णय से स्पष्ट जाहिर हो गया है कि झामुमो की हार सुनिश्चित है। श्री राय ने कहा कि चुनाव में विपक्षियों ने बेमेल गठबंधन किया है। इसे राज्य की जनता भलीभांति समझ चुकी है। विपक्षी गठबंधन से झारखंडवासियों का कल्याण नहीं होने वाला है। उन्होंने कहा कि भाजपा ही एकमात्र ऐसी पार्टी है, जो राज्य में स्थिर सरकार और स्वच्छ प्रशासन देने में सफल रही है। उन्होंने कहा कि चुनाव में भाजपा को व्यापक जनसमर्थन प्राप्त होगा और पूर्ण बहुमत से भाजपा सत्ता में दोबारा आएगी। रघुवर सरकार के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनना तय है।

Share To:

Post A Comment: