पटना, (रिर्पोटर) : देश और प्रदेश में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, किसानों की समस्या को लेकर केंद्र की मोदी सरकार एवं बिहार के नीतीश सरकार के खिलाफ बिहार प्रदेश कांग्रेस ने सडक़ों पर उतरकर  जन वेदना मार्च निकाला। बड़ी संख्या में लोगों के हुजूम के साथ बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पर्यवेक्षक राजेश मिश्रा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सदानंद सिंह समेत पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं विधायकों तथा पूर्व विधायकों के साथ बड़ी संख्या में कांग्रेसी सडक़ों पर उतरे ।
 कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि सावधान भारत  के नारे के साथ वह सडक़ पर उतरे हैं, देश की जनता ने बड़ी उम्मीद के साथ भाजपा को वोट दिया था। उन्होंने कहा था कि हर साल 2 करोड़ युवाओं को नौकरी देंगे, लेकिन इस सरकार ने पिछले 40 साल का रिकार्ड तोड़ दिया। अर्थव्यवस्था के मामले में भारत दुनियां के 5 बड़े देशों में शामिल था, आज भारत बेस्ट इकॉनमी वाले देशों की लिस्ट से बाहर हो गई। इस प्रदर्शन के दौरान शक्ति सिंह गोहिल ने भाजपा के ऊपर जमकर हमला बोला। उन्होंने महाराष्ट्र के सियासी ड्रामेबाजी पर टिप्पणी करते हुए कहा कि महाराष्ट्र के अंदर  डेमोक्रेसी का मर्डर किया गया, बिना किसी को बताये ही राजभवन में सीएम और डिप्टी सीएम पद की शपथ दिलाई गई। देश देख रहा है कि कितना गलत हुआ है। कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष प्रवीण सिंह कुशवाहा ने कहा कि  देश एवं राज्य की जनता इन तानाशाही सरकारों से ऊब चुकी है। 
इस मार्च में कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी, पूर्व सांसद तारिक अनवर, युवा कांग्रेस अध्यक्ष गुंंजन पटेल, एनएसयूवाई अध्यक्ष चुन्नु सिंह, प्रवीण सिंह कुशवाहा, आशुतोष कुमार सिंह, आदित्य कुमार सिल्टू, राज कुमार राजन एवं अन्य वरिष्ठ नेतागण शामिल थे।

Share To:

Post A Comment: