पटना, (राकेश कुमार) : जदयू शिक्षा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कन्हैया ङ्क्षसह ने पूर्व केन्द्रीय राज्य मंत्री सह रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा का शिक्षा मुद्दे पर आमरण अनशन को राजनीति दिखावा बताया। पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से वार्तालाप कर उन्होंने कहा कि उपेन्द्र कुशवाहा राजनीति को व्यवसाय ब नाये हुए हैं। बीते चुनाव में एक ही टिकट को तीन बार सक्रिय किये। शिक्षा मुद्दे पर उनका आमरण अनशन राजनीति दिखावा है। इस अनशन के सहारे वे अपना राजनीति जीवन की तलाश में जुटे हैं। केन्द्रीय विद्यालय की जमीन मुद्दे पर राज्य सरकार के साथ बैठकर बात कियाजा सकता था। उन्हें प्रदेश की जनता को बताना चाहिए कि साढ़े चार वर्षों के केन्द्रीय मंत्रितत्व काल में समाज के लिए कितना काम किये हैं। श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के शासनकाल में शिक्षा में अतुल्यनीय काम किया गया है। साइकिल एवं पोशोक योजना लागू हुआ। सरकारी विद्यालयों में छात्रों की संख्या बढ़ी है, 20 हजार नया विद्यालय भवन बना, 3 लाख शिक्षकों की बहाली हुई, हर पंचायत में प्लस टू विद्यालय खोला जा रहा है, आईटीआई, स्कील एवं नया यूनिवर्सिटी खोलकर शिक्षा को बढ़ावा दिया गया।
इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष प्रो. राजेन्द्र यादव, प्रधान महासचिव प्रमोद कुमार सिंह, प्रदेश प्रवक्ता राजीव प्रशांत, उज्जवल प्रताप सिंह, डा. कृपा शंकर तिवारी, मुकेश कुमार, प्रो.  सुधीर वर्मा, एम. करीम, अशोक निषाद समेत अन्य उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: