पटना, (रिपोर्टर) : राष्ट्रीय जनता दल के 11वां राष्ट्रीय अध्यक्ष पद का नामांकन प्रदेश कार्यालय में पहुंचकर राजद के वरिष्ठ नेता एवं प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की अनुपस्थिति में किया। प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने अपने 20-20 समर्थकों एवं प्रस्तावकों के साथ राजद प्रदेश कार्यालय पहुंचकर डा. रघुवंश प्रसाद सिंह, तेजप्रताप यादव, डा. कांति सिंह, जगदानंद सिंह के उपस्थिति में राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी चितरंजन गगन के समक्ष नामांकन पत्र दाखिल किया। नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद पत्रकारों से कहा कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने लगातार 10वीं बार अध्यक्ष निर्विरोध चुने गये हैं। हमें आशा है कि इस बार भी वे जेल में रहते हुए निर्विरोध अध्यक्ष पद पर चयन होंगे।
उन्होंने कहा कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के रिम्स में गंभीर बीमारी के कारण भर्ती है जिसके कारण वे यहां उपस्थित नहीं हो सके। इसलिए उनकी उपस्थिति में राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी चितरंजन गगन के उपस्थिति में नामांकन पत्र दाखिल किया गया है। जिसमें 20 प्रस्तावक एवं 20 समर्थक उपस्थित हैं। इसमें 9 दिसम्बर को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होगी। 10 दिसम्बर को चुनावी प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा। हालांकि राजद से कोई राष्ट्रीय अध्यक्ष पद का नामांकन नहीं किया तो वे 11वें बार निर्विरोध अध्यक्ष पद परचयन होंगे। उसी दिन राष्ट्रीय कार्यकारिणी का गठन करने के लिए लालू प्रसाद यदव को अधिकृत किया जायेगा। लालू प्रसाद यादव ने देश के गरीबों, दलितों, शोषितों एवं अल्पसंख्यकों की लड़ाई लड़ा था। उन्होंने गरीबों को आवाज देकर मुख्यधारा में जोडक़र मुखर बनाया। जिसके कारण उनको राजनीति केस में फंसाकर जेल भेजने का काम किया गया। आने वाले विधानसभा च ुनाव में राजद गठबंधन की डंका बजेगी।
इस अवसर पर राजद के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष सह पूर्व मंत्री जगदानंद सिंह, पूर्व केन्द्रीय मंत्री डा. रघुवंश प्रसाद सिंह, पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव, पूर्व मंत्री कांति सिंह, देवमुनी सिंह यादव, रंजय कुमार, विधायक भाई वीरेन्द्र, डा. रामानंद यादव, डा. रामानुज प्रसाद यादव, पूर्व मंत्री आलोक मेहता, पूर्व मंत्री शिवचन्द्र राम, राजकिशोर राय, रामविचार राय, मुनेश्वर चौधरी, शक्ति सिंह आदि भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: