पटना, (रिपोर्टर) : कैब एवं एनआरसी मुद्दे पर भाकपा का 19 दिसम्बर को बिहार बंद में महागठबंधन का राजद एवं कांग्रेस का सहानुभूति होगी। पार्टी कार्यालय में पत्रकारों  से वार्तालाप कर पार्टी के राष्ट्रीय सचिव सह एटक महासचिव अमरजीत कौर ने कहा कि भाकपा का 19 दिसम्बर की बंदी पहले की निर्णय है। इस बंद में स्वराज पार्टी, 10 छात्र संगठन एवं महागठबंधन के सहयोगी रालोसपा, हम, वीआईपी का समर्थन होगा। राजद, कांग्रेस ने भी सहानुभूति जतायी। 10 जनवरी को 10 ट्रेड यूनियन के आह्वान पर बंदी को लेकर लेफ्ट पार्टियों से बातें किया जायेगा। उन्होंने कहा कि भाजपा देश में डिविजन की राजनीति करती है। एक सम्प्रदाय को टारगेट कर देश में एनआरसी कानून लाया गया है। केन्द्र की भाजपा समर्थित एनडीए सरकार में लोगों को रोजगार नहीं मिल रहा है। पब्लिक सेक्टर को पूंजीपतियों के हाथों सौंपकर मजदूरों को नौकरी से निकाला जा रहा है।

उन्होंने कहा कि प्याज की बढ़ती कीमत पर वित्त मंत्री का सही जवाब नहीं आकर प्याज न खाने की बात कही जाती है। केन्द्र की सरकार संविधान के विरूद्ध काम कर रही है। राज्यों के राज्यपाल कठपुतली की तरह का करते हैं। वन नेशन वन इलेक्शन की बात करने वाले  प्रधानमंत्री को बताना चाहिए कि झारखंड में पांच चरणों में क्यों चुनाव  करा रहे हैं। प्रधानमंत्री सारी हदें पार कर चुके हंै। आर्थिक मंदी संभव नहीं रहा है। ग्रोथ रेट कम हुआ। सरकार के हाथ से इकोनोमी निकल चुका है। संवाददाता सम्मेलन में पार्टी के राज्य सचिव सत्य नारायण सिंह समेत अन्य उपस्थित थे।


Share To:

Post A Comment: