पटना, (रिपोर्टर) :‘वाल्मीकि व्याघ्र संरक्षण न्यास‘ (टाइगर फाउंडेशन) की शासी पर्षद की बैठक उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की अध्यक्षता में उनके सचिवालय स्थित कार्यालय कक्ष में हुई। इस दौरान उन्होंने वाल्मीकिनगर स्थित ‘वाल्मीकि टाइगर रिजर्व’ (वीटीआर) और वहां इको पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए ‘पटना-वाल्मीकिनगर रियायती टूर पैकेज’ की घोषणा की। 21 दिसम्बर (शनिवार) से प्रत्येक शनिवार को पर्यटकों को मात्र 1,500 रुपये में वीटीआर का भ्रमण करया जायेगा। दूसरे दिन रविवार की रात्रि में पर्यटक पटना लौटेंगे। आने-जाने, ठहहने व खाने का खर्च पैकेज में शामिल है।

श्री मोदी ने बताया कि वर्तमान पर्यटन सीजन में पटना से प्रत्येक शनिवार को सड़क मार्ग से वाल्मीकिनगर जाने वाले पर्यटकों के लिए वहां जंगल सफारी, कौलेश्वर झूला ब्रिज पर कैनोपी वाॅक व व्यू प्वाइंट, गंडक में नौकायन, जटाशंकर मंदिर, हाथी शेड, इको पार्क,रिवर फ्रंट पाथवे आदि का भ्रमण मुख्य आकर्षण होगा।

शासी पर्षद को उपमुख्यमंत्री ने इको टूरिज्म के लिए राज्यस्तरीय सलाहकार समिति का गठन, वाल्मीकि विहार स्थित कान्फ्रेंस हाॅल को सार्वजनिक संस्थाओं को 100 लोगों तक के सेमिनार,कन्फ्रेंस आदि के लिए उपलब्ध कराने व वहां अगले 15 दिन में बच्चों के लिए वन्य जीवन पर आधारित फिल्म का प्रदर्शन प्रारंभ करने, सिंचाई विभाग के खाली पड़े बैरक में तत्काल नेचर इन्टरप्रेटेशन सेंटर शुरू करने और सिंचाई विभाग से 200.5 एकड़ जमीन हस्तांतरित होने के बाद स्थाई संरचना का निर्माण करने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार शीघ्र ही बेतिया से मंगुराहा व गोबर्द्धना के लिए भी टूर पैकेज प्रारंभ करेगी। इसके साथ ही उन्होंने वीटीआर वेबसाइट को अपडेट करने व निजी कम्पनियों तथा संस्थाओं को वाल्मीकिनगर में बिजनेस कांफ्रेंस, ट्रेनिंग, मिटिंग आदि आयोजित करने का आॅफर देने का अधिकारियों को सुझाव दिया।

शासी पर्षद की बैठक में विभागीय प्रधान सचिव दीपक कुमार सिंह, पीसीसीएफ ए के पांडेय, सीसीएफ सुरेन्द्र सिंह, वीटीआर के उप निदेशक गौरव औझा, डीएफओ अमरीश कुमार, शासी पर्षद के सदस्य शैलेन्द्र गढ़वाल और विशेष आमंत्रित सदस्य समीर सिन्हा आदि उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: