पटना, (रिपोर्टर) : लोक जनशक्ति पार्टी सेक्यूलर ने  दिल्ली और आन्ध्रा की तरह बिहार में भी सभी गैरकानूनी स्लमवासियों एवं गांवों और कालोनियों को कानूनी घोषित करने की मांग राज्य सरकार से किया।
             पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ.सत्यानंद शर्मा ने कहा कि बिहार के 30 प्रतिशत आवादी आज भी भूमिहीन है जो नदी,पोखर,पईन और पहाड़ो के तलहटी में अपना मकान बनाकर रह रहे है। सरकार जल संरक्षण के नाम पर ऐसे तीन करोड़ भूमिहीन और गृह विहीन लोगों का मकान तोड़ रही है।
         डॉ. शर्मा ने कहा कि जल संरक्षण अति आवश्यक है। भूतल जल स्तर जिस ढंग से नीचे जा रहा है वह आम जीवन के लिए खतरे की घंटी है। इससे बचना है। लेकिन तीन करोड़ लोगों का घर तोड़ कर वेघर करना भी अतिखतरनाक बात है। सरकार इनका घर तोडऩे के पहले सभी भूमिहीन और गृहविहीनों को जमीन देकर पक्का मकान बनवाने का कानून बनाये ऐसे लोगों को पुर्नवासित करे तब इनका मकान तोड़े। यदि सरकार ऐसा नही करती है तो लोक जनशक्ति पार्टी सेक्यूलर  चरणवध आन्दोलन पूरे बिहार में शुरू करेगी।
          मौके पर पार्टी के कार्यकारी अध्य्क्ष विष्णु पासवान, युवा लोजपा से. के राष्ट्रीय अध्य्क्ष अनिल कुमार पासवान उपस्तिथ थे।

Share To:

Post A Comment: