पटना, (रिपोर्टर) : पटना जल प्रलय में दूध, पानी और खाना लेकर लोगों की सेवा करने वाले जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह मधेपुरा के पूर्व सांसद पप्पू यादव 3 दिसंबर से जमाखोरी और महंगाई के खिलाफ विरोध दर्ज कराते हुए भाजपा और लोजपा कार्यालय के बाहर ठेला लगाकर प्याज बेचेंगे। उन्होंने कहा कि वे प्याज 35 रूपए किलो गरीब लोगों के बीच बेचेंगे और अच्छे दिन की बात करने वाले लोगों को बतायेंगे कि ये कौन से अच्छे दिन है, जहां लगातार गरीबों की थाली पर हमला हो रहा है।
पप्पू यादव ने कहा कि वे  गरीबों के साथ-साथ ही वैसे भी घरों में प्याज उपलब्ध करवाएंगे, जहां शादी-ब्याह है। पप्पू यादव ने ये घोषणा ऐसे वक्त में की है, जब बिस्कोमान ने प्रशासनिक सहयोग नहीं मिलने का हवाला देकर सस्ते दर से प्याज न बेचने का निर्णय लिया है। उसके बाद पप्पू यादव ने कहा कि हम गरीबों की थाली से प्याज को आउट होने नहीं देंगे। नेताओं और दलालों ने मिलकर काला बाजारी की और गरीबों के थाली से उसका प्याज ही गायब कर दिया। उन्होंने प्याज के बहाने मोदी सरकार को भी निशाने पर लिया और कहा कि नोट बंदी करने वाली सरकार ने कहा था कि नोट बंदी से आतंकवाद, नकली करेंसी, जमाखोरी, कालाबाजारी और बिचौलिये खत्म  हो जायेंगे। लेकिन क्या  हुआ, ये देश भी देख रहा है। न आतंकवाद कमा, न नकली करेंसी और कालाबाजारी और बिचौलिये के खेल ने ही तो प्याज की दरों को पेट्रोल से भी ज्याादा कर दिया है। 

Share To:

Post A Comment: