पटना, (रिपोर्टर) : रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि एनआरसी बनाम मुसलमान का केवल मामला नहीं है बल्कि केन्द्र सरकार का दलित, गरीब, पिछड़ा भी निशाना है। हिन्दुस्तान में रहने वालों से अब हिन्दुस्तानी अब होने का सर्टिफिकेट मांगा जायेगा। पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से वार्तालाप कर उन्होंने कहा कि भाजपा एवं आरएसएस की  नीतियों पर नहीं चलने वाों पर निशाना साध कर एनआरसी कानून लागू किया गया है। असम में एनआरसी लागू होने से नॉर्थ-इस्ट के लोग परेशान हैं। केन्द्र सरकार की मंशा है देश में समस्या पैदा करना। जब बीपीएल सूची  सही  नहीं हो रहा है तो एनआरसी कैसे सुधर पायेगा। 
उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में अब भी अधिकांश परिवार ऐसे हैं जिनके पास उनके एवं बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र नहीं मिलेगे। ऐसी स्थिति में उन्हें भी हिन्दुस्तान का नागरिक मान्य नहीं होगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का चेहरा भी इस मुद्दे पर सामने आ गया। जनता को जागरूक होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि रालोसपा 26 दिसम्बर को चम्पारण से जनता के बीच यात्रा कर जागरूक करने का काम करेगा। इस अवसर पर प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक झा, मीडिया प्रभारी भोला शर्मा समेत अन्य उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: