पटना, (रिपोर्टर) : बिहार भाजपा प्रवक्ता  डा.निखिल आंनद ने राजद द्वारा फिर से लालू प्रसाद जी को राजद का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की कवायद पर कटाक्ष करते हुए त्वीट कर कहा कि- "राजद 18वीं शताब्दी की ओल्ड मॉडल राजनीतिक दल है जिसमें नई पीढ़ी का कोई भविष्य नहीं है। साथ ही लालूजी को जेल में प्राप्त दिव्य संजय दृष्टि से पता चल गया है कि उनके बेटी- बेटों में मीसा भारती, तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव सहित कोई भी राजद का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के लिए काबिल नहीं है। बिहार भाजपा प्रवक्ता ने लोक जनशक्ति पार्टी के नेता राम विलास पासवान की प्रशंसा करते हुए कहा कि कम से कम उन्होनें चिराग पासवान को राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रिंसराज पासवान को बिहार प्रदेश अध्यक्ष बनाकर युवा पीढ़ी को प्रोमोट कर भविष्य के लिए बेहतर संकेत दिया है। लेकिन राजद भविष्य की पार्टी बनने में पिछड़ गई है। अब तय है कि सजायाफ्ता होकर लालूप्रसाद जी जेल से ही पार्टी चलायेंगे।  डा.आंनद ने कहा कि राजद में नई पीढ़ी को नजरअंदाज करने के दो ही मायने मतलब निकाला जाना चाहिए।  पहला यह कि परिवार में द्वंद्व और पार्टी संगठन में विद्रोह के डर से राजद सुप्रीमो लालू जी ने अपने बेटे तेजस्वी को राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रोमोट करने का प्लान कैंसिल कर दिया है। दुसरा, तेजस्वी यादव नेता विपक्ष के तौर पर असफल सिद्ध हो गए हैं और परिवार एवं पार्टी को एकजुट रख पाने में असफल हैं। जाहिर सी बात है कि राजद के भीतर उबल रहे विक्षोभ एवं विद्रोह को शांत कर पार्टी को टूट से बचाने के प्रयास में लालू जी ने तेजस्वी को नेतृत्व की कमान नहीं सौंपी।


Share To:

Post A Comment: