पटना, (रिपोर्टर) : अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक बिहार द्वारा आज पटना के सदाकत आश्रम स्थित कार्यालय में श्रमिकों के बीच संवाद एवं जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें इंटक, बिहार से सम्बद्ध विभिन्न यूनियनों के राज्य एवं समस्त जिला इकाई के पदाधिकारियों एवं सदस्यों के साथ-साथ भारी संख्या में श्रमिकों नें भी भाग लिया।  इस अवसर पर बोलते हुए राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक  के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह प्रदेश अध्यक्ष  चन्द्र प्रकाश सिंह ने कहा कि कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य श्रमिकों को मानवाधिकार के बारे में जानकारी देना तथा उन्हें जागरूक करना है।
    श्री सिंह ने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार की श्रम विरोधी नीतियों के कारण देश में श्रमिकों की स्थिति दिनों-दिन बद्दतर होती जा रही है जो अत्यंत चिंता की बात है, आज मजदूरों के शोषण की घटनाओं को उनके मानवाधिकारों के हनन से सीधे जोडक़र देखने की ज़रूरत है क्योंकि आज भी श्रमिकों विशेषकर असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के साथ इंसान नहीं बल्कि मशीन या जानवर की तरह व्यवहार किया जा रहा है।  ऐसी स्थिति में श्रम संगठनों का कर्तव्य सिर्फ उन्हें मौद्रिक लाभ दिलाने तक ही सीमित नहीं है बल्कि उन्हें समाज में प्रतिष्ठा दिलाने की भी जिम्मेवारी श्रम संगठनों की है।
    इस अवसर पर प्रदेश इंटक के महासचिव आलोक रंजन श्रीवास्तव, संगठन मंत्री अखिलेश पाण्डेय, युवा इंटक के प्रदेश अध्यक्ष आशुतोष कुमार, अमरेन्द्र कु.चौरसिया,  अजय कु. सिंह,  धर्मेन्द्र कुमार, भूपेश गुप्ता, रीता कुमारी तथा संगीता गुप्ता ने भी प्रमुखता से अपने विचार रखे। 
    इस आयोजन में इंटक से सम्बद्ध विभिन्न यूनियनों से राम कुमार झा, प्रभात क. सिन्हा,संतोष कुमार,विश्वेश्वर कु. सिन्ह समेत काफी संख्या में शामिल हुए।

Share To:

Post A Comment: