पटना, (रिपोर्टर) : सीएए के नाम पर हो रही हिंसा के लिए कांग्रेस को जिम्मेवार बताते हुए भाजपा प्रवक्ता व पिछड़े समाज के नेता  राजीव रंजन ने कहा “ यह किसी से छिपा नही है कि एक अंग्रेज द्वारा शुरू की गयी कांग्रेस पार्टी हमेशा से ही अंग्रेजों की ‘बांटो और राज करो’ की नीति पर चलती आयी है. इनका इतिहास देखें तो इन्होने हमेशा ही देशहित से ऊपर गांधी परिवार के हित को रखा है और अपना जनाधार बढ़ाने के लिए हमेशा ही समाज को बांटने की साजिश रचती रही है. देश में अपनी गिरती स्थिति देख कांग्रेस सीएए के मुद्दे पर आज फिर से देश को बांटने की फ़िराक में लग चुकी है. याद करें तो शनिवार यानि 14 दिसंबर को कांग्रेस पार्टी ने दिल्ली के में एक रैली का आयोजन किया था, जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने इस बिल के खिलाफ दुष्प्रचार करते हुए जमकर जहर उगला. इन लोगों ने अपने जहरीले भाषण से रैली में आए लोगों को भड़काने का भी काम किया. इनके नेताओं के उकसावे का ही नतीजा था कि रविवार को दिल्ली के जामिया नगर इलाके में हिंसा भड़क गई और उग्र भीड़ ने कई वाहनों में आग लगा दी और पुलिस पर जमकर पथराव भी किया. ध्यान दें तो आगजनी और हिंसा की वारदातों के बाद एक बार भी कांग्रेस की तरफ से शांति की अपील नहीं की गई, बल्कि उन्हें और शह देने के लिए इनके कई नेता उनके पक्ष में होने का दिखावा करने में लग गये. इतना ही नहीं कुछ खबरिया वेबसाइटों के मुताबिक कांग्रेस के छात्र संगठन NSUI के कई नेता व्हाट्सएप ग्रुपों के माध्यम से और भी दुसरे कॉलेजों में जामिया की तर्ज पर दंगे करवाने की साजिश में जुटे हुए हैं. बिहार में भी आने वाले कुछ दिनों में इन लोगों ने बंदी का एलान किया है. राजद के साथ की जाने वाली बंदी में किस तरह तोड़फोड़ और उपद्रव होता है, इससे लोग भली भांति परिचित हैं. मतलब साफ़ है कि कांग्रेस और संगी साथी सत्ता के लिए अब किसी भी हद तक जा सकते हैं. इसलिए लोगों को इनसे सावधान रहना चाहिए ।



Share To:

Post A Comment: