पटना, (रिपोर्टर) : राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश महासचिव भाई अरुण कुमार एवं अत्यंत पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव उपेंद्र चंद्रवंशी ने संयुक्त प्रेस बयान जारी कर कहा कि जदयू बार-बार 15 साल बनाम 15 साल का पोस्टर निकाल कर जनता को गुमराह कर रही है लेकिन बिहार की जनता अब गुमराह होने वाली नहीं है क्योंकि नीतीश जी ने 15 साल में बिहार की जो दुर्गति की है वह बिहार की जनता समझ रही है बिहार में क्राइम की स्थिति  खराब हो गई है दिनदहाड़े बैंक लूट लिए जाते हैं बाप के सामने बेटी का इज्जत लूट ली जाती है सामूहिक बलात्कार करके लडक़ी को जला दिया जाता है सरेआम महिला को नंगा कर घुमाया जाता है यह भी पोस्टर में दिखाया जाना चाहिए मुजफ्फरपुर का शेल्टर होम में जिस प्रकार घिनौने कुकृत्य  किए गए उसे भी पोस्टर में दिखाया जाना चाहिए चमकी बुखार से बिहार की नौनिहाल किस प्रकार तरसते थे इसे भी दिखाया जाना चाहिए था और 2 दिन के बारिश में किस प्रकार पटना डूब गई और उनके विकास का पोल खुल गई यह भी पोस्टर में दिखाना चाहिए था परंतु यह सब नहीं दिखाया गया है जहां तक लालू जी के 15 साल का दिन है पटना में जितने भी फ्लाईओवर ब्रिज हैं बिहार में जितने भी ग्रामीण सडक़ें बनी हैं  उस समय के तत्कालीन  ग्रामीण विकास मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने बिहार को  दिल खोलकर  पैसा दिया  और ग्रामीण सडक़ों का निर्माण करवाया  यह सब लालू जी की देन है समाज के निचले तबके के लोगों में राजनीतिक भूख पैदा कर राजनीति के सिर्फ पर लाने का काम भी लालू जी का है लालू जी का ही देन है कि आज नीतीश कुमार मुख्यमंत्री के पद पर बैठे हुए हैं इसे भी दिखाना चाहिए।
इन नेताओं ने जदयू एवं भाजपा को चुनौती दी है कि अगर उन में दम है तो राजद के प्रदेश अध्यक्ष  जगदानंद सिंह के चुनौती को स्वीकार करें और 15 साल बनाम 15 साल पर खुली बहस के लिए स्थान तय करें सिख पोस्टर लगाने से काम नहीं चलेगा आपकी सरकार से बिहार की जनता त्रस्त हो गई है 2020 मैं बिहार की जनता आप को माफ  करने वाली नहीं है।

Share To:

Post A Comment: