पटना, (रिपोर्टर) : बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण 21 से 28 जनवरी तक भूकम्प सुरक्षा सप्ताह मनायेगा। सूचना भवन में पत्रकारों से वार्तालाप कर प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व्यास जी ने कहा कि भूकम्प एक ऐसी आपदा है जिसका पूर्वानुमान नहीं होने के कारण जान माल के नुकसान की आशंका बनी रहती है। इससे बचाव के लिए जागरूकता जरूरी है। जनवरी, 2017 में कैबिनेट से भूकम्परोधी तकनीक के माध्यम से मकान बनाने का प्रस्ताव को पारित किया गया। इसके लिए इंजीनियरिंग एवं राजमिस्त्री को भूकम्परोधी तकनीक का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। बिहार के सभी जिले  भूकम्प से पीडि़त होते हैं। नेपाल से सटे जिले मधुबनी, सुपौल, सीतामढ़ी, मधेपुरा, अररिया, सहरसा जोन-5 में आते हैं। इन जिलों में भूकम्प से क्षति होने का सबसे ज्यादा खतरा बना रहताहै।
उन्होंने कहा कि इस बार प्रदेश में 21-28 जनवरी तक भूकम्प सुरक्षा सप्ताह मनाया जायेगा, जिसमें भूकम्प से बचाव की जानकारी मॉक ड्रिल समेत अन्य उपाय बताये जायेंगे। 25 जवरी को हार्डिंग रोड से स्टैण्ड रोड तक जागरूकता रैली निकाली जायेगी। इस अवसर पर डा. यू.के मिश्रा समेत अन्य उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: