नई दिल्ली, (रिपोर्टर) :  उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू ने पैसे की बढ़ती ताकत से देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था में राजनीति की घटती विश्वसनीयता पर गंभीर चिंता व्यक्त कर  इसे रोकने के लिए संसद में  प्रभावी कानून बनाने के  साथ चुनाव कराने का आह्वान किया है।  हैदराबाद  विश्वविद्यालय  में भारत इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक पॉलिसी तथा फाउंडेशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉम्र्स की ओर से मनी पॉवर इन पॉलीटिक्स विषय पर आयोजित  सम्मेलन को संबोधित कर  श्री नायडू ने कहा कि  आज सच्चाई यह है कि कम आमदनी वाले किसी ईमानदार और अधिक योग्य भारतीय नागरिक की कीमत पर  किसी लखपति के पास सांसद या विधायक बनने के मौके ज्यादा हैं। उन्होंने इस संदर्भ में मौजूदा लोकसभा के 475 सांसदों की जांच में पायी गयी करोड़ों रूपए की संपत्ति का जिक्र करते हुए कहा कि यह  533 सांसदों की कुल संपत्ति का 88 प्रतिशत है।   


    


Share To:

Post A Comment: