पटना, (रिपोर्टर) : युवा राकांपा के प्रदेश अध्यक्ष मो. राहत कादरी ने केन्द्र सरकार से देश में सीएए के विरोध में फैले आन्दोलन के तहत मृतक युवाओं के परिवार को मुआवजा के तौर पर प्रति परिवार दसल ाख रुपया ेदेने की मांग कर कहा कि देश में जो सीएए कानून लागू किया गया वह न्याय संगत नहीं है। इस कानून में एक खास धर्म को टारगेट किया गया है। सीएए के विरोध में जो आन्दोलन छिड़ा उसमें मरने वाले अधिकांशत: मुस्लिम समाज से आते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री का बयान देश को गुमराह करने वाला है। इस मुद्दे पर भारत सरकार का रवैया स्पष्ट दिखता है। कहीं न कहीं से टारगेट करने में सरकार का सीधा हाथ है। उन्होंने कहा कि गृहमंत्री को जवाब देना चाहिए कि जेएनयू, जामिया जैसे विश्वविद्यालयों में घटनाएं घटी। पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है और एबीवीपी के गुंडे कैंपस में घुसकर घटना का अंजाम देते हैं। फूटेज में दिखने वाला इन आरोपियों पर कब कार्रवाई होगी। इस अवसर पर राकांप महासचिव जीत नारायण सिंह, उपाध्यक्ष चन्द्रशेखर सिंह समेत उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: