पटना, (रिपोर्टर) : रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि प्रदेश की शिक्षा एवं बेरोजगारी समस्या के मसले पर राज्य सरका फेलूअर है। अपनी नाकामी छुपाने तथा आम नागरिक का ध्यान बंटाने के लिए बहाना बनाकरप सिपाही बहाली की परीक्षा की तिथि को बढ़ाने एवं मानव श्रृंखला का आयोजन किया गया है। पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से वार्तालाप कर उन्होंने कहा कि 19 जनवरी को आयोजित होने वाला मानव श्रृंखला सरकारी न होकर खास पार्टी का दिखता है। सरकारी छूट्टी के दिन कार्यालयों का खोलने का आदेश तथा शिक्षकों को शिक्षा के अलावे दूसरे कार्यों में लगाना आरटी एक्ट का उल्लंघन है। 15 सालों में सरकार को हरियाली नहीं दिखी ओर अब चु नाव के समय अपनी नाकामी को छुपाने के लिए इस प्रकार का कार्यक्रम कर जनता को दिग्भ्रमित करना चाहती है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार बिहार में बेरोजगारी बढ़ी है।
उन्होंने कहा कि रालोसपा कर्पूरी जयंती के अवसर पर विधानसभा के समीप शिक्षा एवं बेरोजगारी के सवाल पर हमें चाहि, शिक्षा और रोजगार नामक मानव कतार कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। रालोसपा का यह कार्यक्रम कोई नया नहीं इसके पूर्व 2018 में भी कार्यक्रम चलाया गया था उस समय हम एनडी, के साथ थे। उस कार्यक्रम में विपक्षी दलों का भी सहयोग मिला था इस बार भी एनडी, छोड़ सभी विपक्षी दलों से मांगा गया है। उन्होंने कहा कि इस बार हमारी राज्य सरकार से कोई मांग नहीं है। क्योंकि राज्य सरकार से कोई अपेक्षा नहीं है। सरकार के पास न वक्त है और न ही रूची। संवाददाता सम्मेलन में राजेश यादव, अभिषेक झा, अनिल यादव, भोला शर्मा, अशोक कुशवाहा समेत अन्य उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: