पटना, (रिपोर्टर) :  नागरिकता संशोधन कानून के पक्ष में भाजपा द्वारा चलाये जा रहे जनजागरण अभियान के तहत वैशाली में आयोजित गृहमंत्री अमित शाह की जनसभा को अपार जनसमर्थन मिल रहे होने का दावा करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जयसवाल ने कहा “  गृहमंत्री अमित शाह की कल वैशाली में आयोजित होने वाली जनसभा को लेकर बिहार के लोगों की उत्सुकता और उत्साह साफ़ देखा जा सकता है. फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप जैसे सोशल मीडिया माध्यमों पर लोग खुद से श्री शाह की इस जनसभा का प्रचार कर रहे हैं. जिस जनसभा के प्रचार की कमान स्वयं जनता ने थाम रखी हो, उसकी सफलता का अंदाजा स्वयं लगाया जा सकता. दरअसल सरदार पटेल के बाद पहली बार लोगों ने किसी गृहमंत्री को देश के प्रति इतना गंभीर और सजग देखा है. मोदी 2.0 में देशहित में एक के बाद एक लिए गये ऐतिहासिक फैसलों ने लोगों के मन में सरकार के प्रति विश्वास को और अधिक मजबूत कर दिया है. अमित शाह जी के प्रति लोगों का यह विश्वास कल वैशाली में जनसैलाब बन कर उमड़ने वाला है. मुझे पूर्ण विश्वास है कि श्री शाह की कल आयोजित होने वाली जनसभा निश्चय ही सफलता के नये कीर्तिमान स्थापित करेगी।

 

 

डॉ जयसवाल ने कहा “ ज्ञान और धर्म की धरती वैशाली को लोकतंत्र की जननी भी कहा जाता है. जब पूरे विश्व में लोग लोकतंत्र के नाम तक से परिचित नहीं तब यहाँ दुनिया का प्रथम गणराज्य पूरी गति से चल रहा था. वैशाली के इसी महत्व को देखते हुए यह जनसभा आयोजित की गयी है. कल अमित शाह जी लोकतंत्र की इसी धरती से विपक्ष के अलोकतांत्रिक रवैए के बारे में पूरे देश को अवगत कराएंगे. सीएए के खिलाफ फैलाए गये उनके एक एक झूठ का पर्दाफाश इस जनसभा से किया जाएगा ।

 

 

विपक्ष को निशाने पर लेते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा “ लोकतंत्र के नाम पर कांग्रेस के नेतृत्व में संवैधानिक मूल्यों की जिस तरह से धज्जियां उड़ाई जा रही हैं वह पूरे देश के सामने हैं. संसद के दोनों सदनों से पूरे बहुमत से पास किसी कानून के खिलाफ, झूठ के सहारे जनता में भय और भ्रम का वातावरण पैदा करने का इनका चल रहा प्रयास यह दिखाने के लिए काफी है कि इनका लोकतांत्रिक मूल्यों में रत्ती भर भी यकीन नहीं है. यह दिखाता है कि इनकी निगाह में देश और देशवासियों से ज्यादा एक परिवार का महत्व है, जिसकी संतुष्टि के लिए अब इन्हें देश के शांति और सद्भाव को खतरे में डालने से भी परहेज नहीं है. विपक्ष यह जान ले कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ जिस तरह से इन्होने झूठ और दुष्प्रचार का सहारा लिया है, उसके लिए जनता इन्हें कभी माफ़ नहीं करने वाली. इस कानून की मुखालफत कर के उन्होंने कितनी बड़ी गलती की है, इसका एहसास जनता उन्हें आने वाले समय में खुद बताने वाली है ।

Share To:

Post A Comment: