पटना, (रिपोर्टर) : बिहार ऋषि-मुनियों का देश रहा है वहीं पटना साहिब दशमे गुरू श्री गोविन्द ङ्क्षसह जी महाराज का जन्मस्थान है जिसे पूरी दुनिया जानती है। बिहार चन्द्रगुप्त मौर्या, चाणक्या, माता सीता की धरती रहा। ये बातें आज भारतीय जनता पार्टी द्वारा 11 जिलों में लखीसराय, नवगछिया, भागलपुर, सहरसा, शिवहर, गोपालगंज, सिवान, समस्तीपुर, अरवल, औरंगाबाद और सासाराम में भवन उदघाटन के क्रम में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भाजपा कार्यालय में सभा को संबोधित करते हु, कहा।

उन्होंने कहा कि मेरा जुड़ाव पटना से पढ़ाई से समय से रहा है। पहले भारतीय जनता पार्टी का कार्यालय में और अभी जमीन आसमान का फर्क रहा। इस कार्यालय में बड़े-बड़े लोगों को लाना मेरा स्वभाव रहा है। पूरे देश के 590 जिलों में कार्यालय हेतु जमीन का अधिग्रहण किया गया है। 487 कार्यालय बंद दिखे तथा बाकी कार्यालयों का जमीन लेने हेतु काम शुरू कर रहे हैं। बिहार में भी 11 कार्यालय का निर्माण हो चुका है 6 कार्यालय मई महीना में बनकर तैयार हो जायेगा तथा बाकी कार्यालय जून के बाद बनेंगे। इस कार्यालय में भाजपा के कोई कार्यकत्र्ता आकर अपने भवन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एवं ऑडियो कॉन्फे्रंसिंग का सेवा ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे बिहार के कार्यकत्र्ता कुछ भी जानना चाहे तो वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा बता सकते हैं या सुन सकते हैं। हमारा पार्टी संगठन आधारित पार्टी है। देश में 250 राजनीतिक दल है। 18 मार्च 1974 में मैं भी जेपी आन्दोलन का हिस्सा था मुझ पर भी आस्रु गैस छोड़ा गया। उसी समय मैंने ठान लिया कि राजनीतिक करूंगा और हिंसक आन्दोलन का विरोध करूंगा। 

 

 

बिहार का तस्वीर पिछले पांच सालों में बदली है। होने वाला नवम्बर महीने में विधानसभा चुनाव के बाद नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार बनेगी। श्री नड्डा ने कहा कि देश में करीब 2500 राजनीतिक दल है 59 दलों को चुनाव आयोग का मान्यता प्राप्त है। 7 दलों को राष्ट्रीय दल का मान्यता मिली है यह सभी पार्टियां वंशवाद के आधार पर चलती है। देश में भाजपा एक अकेला पार्टी जहां परिवारवाद नहीं चलती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पास कई बार पूर्ण बहुमत आया लेकिन उसने कभी भी अनुच्छेद 370 हटाने का काम नहीं किया। देश के साथ बिहार की जनता ने भाजपा को 303 सांसदों के साथ नरेन्द्र मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाया और उन्होंने एक झठके में जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को हटाने का काम किया। धारा 370 हटते ही जम्मू-कश्मीर के लोग बहुत खुश हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर और लद्दाख में जिस प्रकार आदिवासियों के साथ जुल्म होता था बोलने से मन खराब हो जाता है। मगर आज तक कांग्रेस सिर्फ दलितों की बात करते हैं। वहीं जम्मू कश्मीर और लद्दाख में दलित आदिवासी हैं उनके साथ जिस प्रकार जुल्म ढाया जाता था उससे लोगों का रूह कांप उठता था। राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद जेपी नड्डा जी का पहला बिहार दौरा था। श्री नड्डा आज अपने बड़े बेटे की शादी में आने का न्यौता भी देंगे। आपको बता दें कि जेपी नड्डा बिहार की राजधानी पटना 2 दिसम्बर, 1960 को जन्म हुआ और उन्होंने बी, की पढ़ाई पटना से ही की।

भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री सैदान सिंह, संगठन मंत्री नागेन्द्र सिंह, सत्यनारायण सिंह, बिहार प्रभारी भूपेन्द्र यादव, गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय, प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, मंत्री प्रेम कुमार, नंदकिशोर यादव, मंगल पांडे, सांसद राधामोहन सिंह, रेणु देवी इत्यादि मौजूद थे।


Share To:

Post A Comment: