पटना सिटी , (रिपोर्टर) :   शिव शिष्य परिवार के संस्थापक सदस्य वरिष्ठ गुरू-भाई चन्द्र भूषण रोहतगी पंचतत्व में लीन हो गए. वे शरीर का त्याग कर अनंत यात्रा को प्रस्थान कर गये. वहीं खाजेकलां घाट पर पुत्र अम्बुज रोहतगी ने मुखाग्नि दी।

     शिव गुरु चर्चा में महान भूमिका निभाने वाले गुरु भाई हम सब को छोड़ कर चले गए यह खबर सुनते ही उनके निवास स्थान लल्लू बाबू का कूँचा में सैकड़ों की संख्या में शिव चर्चा में लीन रहने वाली महिलाओं एवं पुरुषों का हुजूम उनके अंतिम दर्शन को उमड़ पड़ा. पूरा इलाका करुणामय आँशुओ में डूब गया. यहाँ तक की महिलाएँ एक दर्शन पाने को घाट तक पहुंच गयी लोगों ने भगवान से याचना की कि महागुरू महादेव पवित्र आत्मा को सद्गति प्रदान करें. वे अपने पीछे धर्मपत्नी, पुत्री अदिति और स्वाति, पुत्र अम्बुज और अंशुल को छोड़ गये. वे 1995  में उप-समाहर्ता (ए.डी.एम.) पद से अवकाश प्राप्त कर अपना पूरा समय शिव भक्ति और सामाजिक कार्यों में लगा दिया।

Share To:

Post A Comment: