पटना, (रिपोर्टर) : बिहार प्रदेश युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने  राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिख कोरोना की वजह से हो रही परेशानियों का हवाला देते हुए चिकित्सक एवं पारा मेडिकल कर्मियों की कमी को दूर करने की मांग की है। ललन कुमार ने कहा है कि कोरोना महामारी के संकट के खिलाफ  युद्ध में हम सरकार के प्रयासों के साथ हैं। किन्तु चिकित्सक एवं पारा मेडिकल कर्मियों की संख्या अपर्याप्त है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार पीएमसीएच मे वरिष्ठ चिकित्सक 300 , जूनियर डॉक्टर 600 और 130 इंटर्न,1000 नर्स करीब ,400 पारा मेडिकल स्टाफ , एनएमसीएच में 300 वरिष्ठ चिकित्सक समेत करीब 700 डॉक्टर, करीब 900 नर्से व  पारा मेडिकल स्टाफ आइजीआइएमएस में डॉक्टरों की कुल संख्या एक हजार, करीब 500 नर्से, करीब 500 पारा मेडिकल स्टाफ , एम्स पटना मे वरिष्ठ 122 समेत कुल 622चिकित्सक, 800 नर्स,200 पारा मेडिकल स्टाफ  ही हैं।

 पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि वर्तमान मे पीएमसीएच में 73 में से 26 खराब हैं,  एनएमसीएच मे 20, आइजीआइएमएस मे 27 एवं एम्स पटना 50 वेंटिलेटर है। जो चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि संदिग्ध मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सरकार ने 276 होटल और हॉस्टलों में क्वारंटाइन सेंंटर बनाने के अपने पूर्व के फैसले पर अमल शुरू कर दिया है। जो स्वागत योग्य है।


Share To:

Post A Comment: